GST Revenue collection for June 2021 जून 2021 के लिए वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) राजस्व संग्रह

GST Revenue collection for June2021  जून 2021 के लिए वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) राजस्व संग्रह

 Ministry of Finance वित्‍त मंत्रालय

GST Revenue collection for June2021

जून 2021 के लिए वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) राजस्व संग्रह

Rs. 92,849 crore gross GST revenue collected in June’ 2021

जून, 2021 में सकल जीएसटी राजस्व के रूप में 92,849 करोड़ रुपये की वसूली की गई

प्रविष्टि तिथि: 06 JUL 2021 2:46PM by PIB Delhi

The gross GST revenue collected in the month of June’ 2021 is Rs.92,849 crore of which CGST is Rs. 16,424 crore, SGST is Rs. 20,397, IGST is Rs. 49,079 crore (including Rs. 25,762 crore collected on import of goods) and Cess is Rs. 6,949 crore (including Rs. 809 crore collected on import of goods).The above figure includes GST collection from domestic transactions between 5th June to 5th July’2021 since taxpayers were given various relief measures in the form of waiver/reduction in interest on delayed return filing for 15 days for the return filing month June’21 for the taxpayers with the aggregate turnover upto Rs. 5 crore in the wake of covid pandemic second wave.

जून 2021 में सकल वस्तु एवं सेवा कर-जीएसटी राजस्व के रूप में 92,849 करोड़ रुपये की वसूली की गई है जिसमें से सीजीएसटी 16,424 करोड़ रुपये, एसजीएसटी 20,397 करोड़ रुपये और आईजीएसटी 49,079 करोड़ रुपये हैं (वस्तुओं के आयात पर वसूली गई 25,762 करोड़ रुपये राशि सहित) और उपकर 6,949 करोड़ रुपये (वस्तुओं के आयात पर वसूली गई 809 करोड़ रुपये की राशि सहित) शामिल हैं। उपरोक्त आंकड़े में 5 जून से लेकर 5 जुलाई, 2021 तक घरेलू लेनदेन के माध्यम से जीएसटी की वसूल की गई राशि शामिल है क्योंकि करदाताओं को कोविड महामारी की दूसरी लहर के मद्देनजर मई-2021 के लिए रिटर्न फाइलिंग में 15 दिनों के लिए देरी से रिटर्न दाखिल करने पर ब्याज में छूट/ब्याज के रूप में विभिन्न राहत उपाय दिए गए थे।

GST Revenue collection

During this month the government has settled Rs. 19,286 crore to CGST and Rs. 16,939 crore to SGST from IGST as regular settlement.

इस महीने के दौरान सरकार ने नियमित निपटान के रूप में आईजीएसटी से 19,286 करोड़ रुपये सीजीएसटी और  16,939  करोड़ रुपये एसजीएसटी का निपटान किया है।

The revenues for the month of June 2021 are 2% higher than the GST revenues in the same month last year.

जून 2021 की राजस्व वसूली पिछले साल के इसी महीने में जीएसटी राजस्व वसूली से 2 प्रतिशत अधिक है।

GST collection after posting above Rs. 1 lakh crore mark for eight months in a row, the collection in June’2021 dropped below Rs. 1 lakh crore. The GST collection for June’2021 is related to the business transactions made during May’2021. During May’2021, most of the States/UTs were under either complete or partial lock down due to COVID. The e-way bill data for the month of May 2021 shows that during the month, 3.99 crore e-way bills were generated as compared to 5.88 crore in the month of April 2021, down by more than 30%.

जीएसटी संग्रह लगातार आठ महीने तक 1 लाख करोड़ रुपये से ऊपर रहने के बाद, जून 2021 में जीएसटी संग्रह 1 लाख करोड़ रुपये से नीचे आ गया है। जून, 2021 में जीएसटी संग्रह मई 2021 के दौरान किए गए व्यावसायिक लेनदेन से संबंधित है।  मई 2021 के दौरान, अधिकांश राज्य / केंद्र शासित प्रदेश कोविड के कारण पूर्ण या आंशिक रूप से बंद थे। मई 2021 के महीने के ई-वे बिल डेटा से पता चलता है कि अप्रैल 2021 के महीने में 5.88 करोड़ की तुलना में महीने के दौरान 3.99 करोड़ ई-वे बिल तैयार हुए जो 30% से अधिक कम है।

However, with reduction in caseload and easing of lockdowns, the e-way bills generated during June 2021 is 5.5 crore which indicates recovery of trade and business. The daily average generation of e-way bill for the first two weeks of April 2021 was 20 lakh, which came down to 16 lakh in last week of April 2021 and further to 12 lakh in the two weeks between 9th to 22nd May. Thereafter, the average generation of e-way bills has been increasing and has reached again to 20 lakh level since week beginning 20th June. Therefore, it is expected that while the GST revenues have dipped during the month of June, the revenues will see an increase again from July 2021 onwards.

हालांकि, कोविड के मामलों में आ रही कमी और लॉकडाउन में ढील के साथ, जून 2021 के दौरान तैयार किए गए ई-वे बिल 5.5 करोड़ है जो व्यापार और व्यवसाय की के पटरी पर आने का संकेत है। अप्रैल 2021 के पहले दो हफ्तों में ई-वे बिल तैयार होने का दैनिक औसत 20 लाख था, जो अप्रैल 2021 के अंतिम सप्ताह में घटकर 16 लाख और 9 से 22 मई के बीच दो सप्ताह के दौरान घटकर 12 लाख हो गया। इसके बाद, ई-वे बिल तैयार होने का औसत बढ़ रहा है और 20 जून से शुरू होने वाले सप्ताह में फिर से 20 लाख के स्तर पर पहुंच गया है। इसलिए, यह उम्मीद की जा रहै कि जहां जून के महीने के दौरान जीएसटी राजस्व में गिरावट आई है, वहीं जुलाई 2021 से फिर से जीएसटी राजस्व में वृद्धि देखने को मिलेगी।

Source: PIB

नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे।
*****

Comments

This week popular schemes

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लाभार्थी सूची 2021 Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana List 2021

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण सूची। ऐसे देखे लिस्ट में अपना नाम ?

Uttar Pradesh Shramik Card Online Registration 2020 उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड ऑनलाइन पंजीकरण 2020

Nutrient Based Subsidy (NBS) rates for Phosphatic & Potassic (P&K) Fertilisers for the year 2021-22 approved by Cabinet

Directorate of Information and Publicity, Artist Recruitment Rules, 2021

Affiliation of 100 Schools in Government and private sector with Sainik School Society approve by Union Cabinet अकादमिक वर्ष 2022-23 से कक्षा-VI में 5000 विद्यार्थियों को प्रवेश देने के लिए नए विद्यालय

Cabinet approves the continuation of Swachh Bharat Mission (Urban) [SBM U] till 2025-26 for sustainable outcomes

Online booking of community halls of Cantonment Boards made live on eChhawani portal

Railways successfully operated two long haul freight trains ‘Trishul’ and ‘Garuda’ for the first time over South Central Railway

Index Numbers of Wholesale Price in India for the month of September, 2021(Base Year: 2011-12)