केंद्र सरकार और राज्य सरकार दुवारा किसानो की आय दोगुना करने और किसानो को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए बहुत सी लाभकारी योजनाओ का संचालन होता चला आ रहा है। साथ ही योजनाओ का लाभ किसानो तक पहुंचाने के लिए भी बहुत से पोर्टल और हेल्प लाइन नंबर आदि भी संचालित किये जाते है। इसी प्रयास को आगे बढ़ाते हुए महाराष्ट्र सरकार ने किसानो को एक नई सहायता प्रदान करते हुए महाडीबीटी पोर्टल योजना का शुभारम्भ किया है। 

इस पोर्टल के माध्यम से महाराष्ट्र में किसानों के हित में संचालित होने वाली कई योजनाएं जैसे-बिरसा मुंडा कृषि क्रांति योजना, बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वरोजगार योजना,एकीकृत प्रजनन विकास मिशन, भाऊसाहेब फंडारकर बाग रोपण योजना, राज्य कृषि यंत्रीकरण योजन और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन आदि योजनाओं का लाभ दिया जाएगा।          

Maha DBT Farmer Scheme 2023

किसानो की फसल अधिकतर प्राकर्तिक आपदाओं के कारण नष्ट होती है। जिसका अधिक गहरा प्रभाव किसानो की आर्थिक स्थित पर भी पड़ता है। इसलिए छोटें और सीमांत किसानों को सहायता देने के लिए महाराष्ट्र सरकार दुवारा महाडीबीटी पोर्टल का संचालन किया गया है। इस पोर्टल के माध्यम से किसानों को कई लाभ दिए जाएंगे। इस योजना का लाभ सबसे अधिक किसानों को कृषि संबंधी उपकरण खरीदने पर होगा। क्योंकि इस योजना के माध्यम से अनुसूचित जाती तथा अनुसूचित जन जाती वर्ग के किसानो को कृषि से संबंधित तकनीकी उपकरण खरीदने पर 50% और अन्य सभी जाती वर्ग के  किसानो को 40% की सब्सिडी उपलब्ध कराई जायगी। 
Maha DBT Farmer Scheme 2023
इस पोर्टल का लाभ प्राप्त कर किसानो के जीवन स्तर में भी सुधार आ पाएगा। किसानो की फसलों का नष्ट प्राकर्तिक आपदाओं के कारण अधिकतर होता चला आया है जिसका असर किसानो की स्थिति पर पड़ जाता है। इन सभी समस्याओ को कम करने के लिए MahaDBT Farmer Scheme 2023 का लाभ किसानो उपलब्ध काराय जायगा। 

Maha DBT Portal पर किसानों को किन-किन योजनाओं का लाभ दिया जाएगा

महाराष्ट्र के किसानों को महाडीबीटी पोर्टल के माध्यम से निम्नलिखित योजनाओं व घटकों का लाभ / सब्सिडी प्रदान की जाती है।

प्रधानमंत्री कृषि संचन योजना – प्रति बूंद अधिक फसलें- ड्रिप इरिगेशन के द्वारा यानी एक छोटी ट्यूब के माध्यम से फसल के पौधे की जड़ में बूंद-बूंद करके पानी डालने की आधुनिक विधि। स्प्रिंकलर (स्प्रिंकलर के रूप में भी जाना जाता है) एक उपकरण है जो कृषि फसलों, लॉन, लैंडस्केप और अन्य क्षेत्रों में सिंचाई के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

कृषि यंत्रीकरण उप-अभियान– किसानों को इस योजना‌ के तहत निम्नलिखित कृषि मशीनरी/उपकरणों की खरीद के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।
  • ट्रेक्टर
  • पावर टिलर
  • ट्रैक्टर/पावर टिलर चल उपकरण
  • बैलों को चलाने वाली मशीनरी/उपकरण
  • मानव संचालित मशीनरी/उपकरण
  • प्रक्रिया सेट
  • कटाई की पश्चिमी तकनीक
  • बागवानी मशीनरी/उपकरण
  • विशेष मशीन टूल्स
  • स्व-चालित मशीनें
राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन– सरकार इस योजना के तहत, किसानों को बीज वितरण, एकीकृत पोषक तत्व प्रबंधन (सूक्ष्म पोषक तत्व), एकीकृत कीट प्रबंधन (फसल सुरक्षा दवाएं और जैविक एजेंट, शाकनाशी), व्यक्तिगत खेतों, पंप सेट, पाइप, विभिन्न कृषि उपकरणों के लिए अनुदान उपलब्ध करवाती हैं।

बिरसा मुंडा कृषि क्रांति योजना- नए कुएं, पुराने कुएं की मरम्मत, इनवेल बोरिंग, पंप सेट, बिजली कनेक्शन का आकार, खेतों की प्लास्टिक लाइनिंग और सूक्ष्म सिंचाई सेट, पीवीसी पाइप बिछवाने के लिए इस योजना के तहत अनुदान प्रदान किया जाता है।

डॉ। बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वरोजगार योजना– कृषि विभाग द्वारा अनुसूचित जाति/नव-बौद्ध किसानों के लिए किसानों की आर्थिक आय बढ़ाने के लिए इस योजना को राज्य में लागू किया गया है। इस योजना के तहत राज्य सरकार नए कुएं, पुराने कुएं की मरम्मत, इनवेल बोरिंग, पंप सेट, बिजली कनेक्शन का आकार, खेतों की प्लास्टिक लाइनिंग और सूक्ष्म सिंचाई सेट, पीवीसी पाइप,  बिछवाने के लिए अनुदान देती है।

एकीकृत प्रजनन विकास मिशन– किसान इस योजना के तहत निम्नलिखित सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं।
  • नर्सरी की स्थापना।
  • टिश्यू कल्चर प्रयोगशालाओं का सुदृढ़ीकरण/पुनर्वास
  • नई ऊतक संवर्धन प्रयोगशालाओं की स्थापना करना
  • सब्जी विकास कार्यक्रम
  • गुणवत्ता रोपण सामग्री का आयात करना
  • सब्जी, बीज प्रसंस्करण, पैकिंग, भंडारण आदि। आधारभूत संरचना
  • बागवानी का मशीनीकरण
  • चूना उत्पादन
  • फूलों का उत्पादन
  • मसाला फसलों की खेती
  • पुराने बागों (आम, संतरा, काजू, चना, मैंगोस्टीन, चूना, अमरूद, आंवला) का कायाकल्प करके उत्पादकता बढ़ाना
  • जैविक खेती
  • एकीकृत पोषक तत्व प्रबंधन एकीकृत कीट प्रबंधन
  • मानकीकरण के लिए मधुमक्खी पालन
भाऊसाहेब फंडारकर बाग रोपण योजना- इस योजना के अंतर्गत उन लाभार्थियों को लाभ दिया जाता है जो केंद्र सरकार की महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत पौधरोपण का लाभ नहीं ले सकते हैं। उक्त योजना सरकार के कृषि विभाग के माध्यम से कार्यान्वित की जा रही है।

राज्य कृषि यंत्रीकरण योजना- यह योजना महाराष्ट्र के किसानों को निम्नलिखित कृषि मशीनरी/उपकरणों की खरीद के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है
  • ट्रेक्टर
  • पावर टिलर
  • ट्रैक्टर/पावर टिलर चल उपकरण
  • बैलों को चलाने वाली मशीनरी/उपकरण
  • मानव संचालित मशीनरी/उपकरण
  • प्रक्रिया सेट
  • कटाई की पश्चिमी तकनीक
  • बागवानी मशीनरी/उपकरण
  • विशेष मशीन टूल्स
  • स्व-चालित मशीनें
प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना प्रति थंबा के तहत –  किसान अधिक फसल सूक्ष्म सिंचाई घटक, सूक्ष्म सिंचाई (ड्रिप और धुंध सिंचाई) का लाभ उठा सकते है‌।

Highlight of MahaDBT Farmer Scheme 2023

योजना का नाम

महाDBT शेतकरी योजना

किसके द्वारा शुरू की गई

महाराष्ट्र सरकार द्वारा

उद्देश्य

आर्थिक कमज़ोर किसानो को कृषि यंत्र खरीदने पर सब्सिडी प्रदान करना

लाभ्यर्थी

राज्य के किसान

राज्य

महाराष्ट्र

आवेदन का प्रकार

ऑनलाइन/ऑफलाइ

वर्ष

2023

ऑफिसियल वेबसाइट

https://mahadbtmahait.gov.in/

शेतकरी योजना का मुख्य उद्देश्य

महाराष्ट्र सरकार दुवारा महाडीबीटी शेतकरी पोर्टल योजना को आरम्भ करने का मुख्य उद्देश्य किसानों को राज्य में संचालित विभिन्न प्रकार की योजनाओं और सुविधाओं का लाभ प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से किसान आधुनिक कृषि करने की तकनीक सीखने से लेकर कृषि में इस्तेमाल होने वाले उपकरण सब्सिडी पर खरीद पाएंगे। राज्य के अनुसूचित जाती और अनुसूचित जन जाती वर्ग के किसानो को 50 प्रतिशत सब्सिडी और अन्य सभी वर्ग के किसानो को 40 प्रतिशत सब्सिडी उपलब्ध कराना है। जिससे की किसानो को खेती करने में सहायता मिल पाए। सरकार दुवारा दी गई सब्सिडी प्राप्त कर ज़रूरी उपकरण खरीद पाए। उन उपकरण का इस्तेमाल कर की किसान अपनी फसल को अधिक मात्रा में बढ़ा पाए। 

मौसम की खराबी की वजह से फैसले नष्ट हो जाती है जिससे किसानो को भरी मात्रा में नुकसान होता है लेकिन जिन किसानो की आर्थिक कमज़ोर होती है वह उचित मात्रा में अच्छी फसल का उत्पादन करने में असमर्थ रहते है जिससे उन्हें विभिन तरह की समस्याओ का सामना करना पड़ता है लेकिन राज्य सरकार Maha DBT Shetkari Yojana के माध्यम से  किसानों को विभिन्न प्रकार के लाभ प्रदान करेगी जिससे किसान खेती की उत्पादन में बढ़ोतरी कर सकेंगे। इस योजना के माध्यम से किसानो आय भी बढ़ पाएगी और किसान आत्मनिर्भर भी बन पायगे।

महा शेतकरी योजना 2023 के लाभ एवं विशेषता
  • महाराष्ट्र सरकार दुवारा महाडीबीटी शेतकरी योजना को राज्य के छोटे और सीमांत किसानो के लिए शुरू किया गया है। 

  • इस योजना के माध्यम से महाराष्ट्र में किसानों के हित में संचालित होने वाली कई योजनाएं जैसे-बिरसा मुंडा कृषि क्रांति योजना, बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वरोजगार योजना,एकीकृत प्रजनन विकास मिशन, भाऊसाहेब फंडारकर बाग रोपण योजना, राज्य कृषि यंत्रीकरण योजन और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन आदि योजनाओं का लाभ दिया जाएगा। 

  •  योजना के माध्यम से किसानो को खेती से सम्बंधित यंत्र खरीदने पर सहायता उपलब्ध कराइ जायगी। 

  • सरकार दुवारा दी जाने वाली ये सब्सिडी अनुसूचित जाती और अनुसूचित जन जाती के किसानो को 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी जाएगी। अन्य सभी वर्ग के किसानो को 40 प्रतिशत की सब्सिडी उपलब्ध कराई जायगी। 

  • किसानो की फसल की सुरक्षा करने के लिए उपकरण उपलब्ध करवाए जायेंगे।

  • कृषि भूमि में आधूनिक तकनीकों का उपयोग कर गुणवत्ता में सुधार करना और खेतों की मिट्टी को और अधिक उर्वरक बनाना है। 

  • योजना के माध्यम से किसानो की फसल की देख रेख के लिए उपकरण भी दिए जायगे और फसल की कटाई की लिए बेहतर उपकरण का प्रबंध कराया जायगा। 

  • योजना के माध्यम से किसानो आय भी बढ़ पाएगी और किसान आत्मनिर्भर भी बन पायगे। 
MahaDBT Farmer Scheme की पात्रता और ज़रूरी दस्तावेज    
  • आवेदन करने वाला लाभार्थी महाराष्ट्र का मूलनिवासी होना अनिवार्य है। 
  • योजना का लाभ प्राप्त सिर्फ किसानो को प्रदान किया जाएगा।
  •  किसान अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग से सम्बन्ध रखता हो।
  • खेती की जमीन से संबंधित दस्तावेज
  • महाराष्ट्र निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
MahaDBT Shetkari Yojana Online Registration
  • सर्वप्रथम आपको योजना की ऑफिसियल पोर्टल पर जाना है।

  • इसके बाद आपके सामने पोर्टल का होम पेज खुलकर आ जायगा। 

  • आपको पोर्टल के होम पेज पर न्यू एप्लीकेंट रजिस्ट्रेशन विकल्प पर क्लिक करना है। 

  • क्लिक करने के बाद आपके सामने नया पेज खुलकर आ जायगा। 

  • इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर का उपयोग कर एक यूजरनेम और पासवर्ड बनाना  होगा। 

  • पासवर्ड 8 से लेकर 20 शब्द का हो और पासवर्ड में अंको, शब्दों और स्पेशल कैरेक्टर्स का उपयोग होना ज़रूरी है। 

  • इसके बाद आपको आईडी और मोबाइल नंबर दर्ज करके ओटीपी वेरीफाई करनी होगी। 

  • वेरीफाई हो जाने के बाद आपको रजिस्टर के विकल्प पर क्लिक करना होगा। 

  • इस प्रकार आपका महा डीबीटी शेतकरी योजना में आवेदन सफल हो जाएगा। 
महा डीबीटी पोर्टल योजना हेल्पलाइन नंबर

अगर किसानों को आवेदन करते समय किसी भी प्रकार की कोई समस्या आती है, तो वह महाडीबीटी पोर्टल पर शिकायत/सुझाव बटन पर क्लिक करके अपनी शिकायत/सुझाव का विवरण प्रस्तुत कर सकते हैं। इसके बाद कृषि आयुक्तालय स्तर पर प्राप्त आपकी शिकायतों/सुझावों पर विचार किया जाता है। इसके अलावा आप  हेल्पलाइन नंबर 022-49150800 पर कॉल करके भी अपनी शिकायत का निवारण प्राप्त कर सकते हैं।

Source: https://mahadbtmahait.gov.in/

नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे।
*****
लेटेस्‍ट अपडेट के लिए  Facebook --- Twitter -- Telegram से  अवश्‍य जुड़ें