Waiving off Educational Loans शैक्षिक ऋणों को माफ किया जाना

Waiving off Educational Loans शैक्षिक ऋणों को माफ किया जाना 

भारत सरकार GOVERNMENT OF INDIA 
वित्त मंत्रालय MINISTRY OF FINANCE
वित्तीय सेवाएं विभाग DEPARTMENT OF FINANCIAL SERVICES

लोक सभा LOK SABHA 

तारांकित प्रश्न संख्या 451 STARRED QUESTION NO. 451
जिसका उत्तर 4 अप्रैल, 2022/14 चैत्र, 1944 (शक) को दिया गया
TO BE ANSWERED ON THE 04th APRIL, 2022, CHAITRA 14, 1944 (SAKA)

शैक्षिक ऋणों को माफ किया जाना Waiving off Educational Loans

451. श्री विजयकुमार उर्फ विजय वसंत 451.  SHRI VIJAYAKUMAR (ALIAS) VIJAY VASANTH
        श्री रवनीत सिंह SHR I RAVNEET SINGH BITTU:

क्या वित्त मंत्री यह बताने की कृपा करेंगे कि:

Will the Minister of FINANCE be pleased to state:

(क) क्या यूक्रेन से लौटने वाले अनेक छात्रों ने भारत में शिक्षा ऋण लिया है;

(a) whether a large number of students returning from Ukraine have availed of education loan from India;

Waiving off Educational Loans
(ख) यदि हां, तो क्या सरकार के पास यूक्रेन से लौटने वाले छात्रों को संस्वीकृत ऐसे ऋणों का कोई डेटा विद्यमान है और यदि हां, तो तत्संबंधी ब्यौरा क्या है;

(b) if so, whether the Government has any data of such loans sanctioned to the students returning from Ukraine and if so, the details thereof;

(ग) क्‍या सरकार ने लौटने वाले इन छात्रों पर इस संकट के प्रभाव के संबंध में कोई आकलन किया है और यदि हां, तो तत्संबंधी ब्यौरा क्या है;

(c) whether the Government has made any assessment regarding the impact of this crisis on the returnee students and if so, the details thereof;

(घ) क्या सरकार के पास युद्ध की विभीषिका झेल रहे यूक्रेन से लौटने वाले छात्रों के ऋणों को माफ करने अथवा ऐसे ऋण प्राप्तकर्ताओं के लिए ब्याज दर में और कटौती करने अथवा ऋण अदायगी अवधि बढ़ाने का कोई प्रस्ताव है; और

(d) whether the Government has any proposal to waive off the loans of the returnee students from the war torn Ukraine or further to reduce the rate of interest or to extend the tenure for such borrowers; and

(ड.) यदि हां, तो तत्संबंधी ब्यौरा क्या है और यदि नहीं, तो इसके क्या कारण हैं?

(e) if so, the details thereof and if not, the reasons therefor?

उत्तर ANSWER
वित्त मंत्री FINANCE MINISTER

(श्रीमती निर्मला सीतारामन)  (SMT. NIRMALA SITHARAMAN)

(क) से (ड.): एक विवरण सदन के पटल पर रख दिया गया है। 

(a) to (e): A Statement is laid on the Table of the House.

“शैक्षिक ऋणों को माफ किया जाना” के संबंध में श्री विजय कुमार उर्फ विजय वसंत तथा श्री रवनीत सिंह द्वारा पछे गए दिनांक 04.04.2022 के लोक सभा तारांकित प्रश्न संख्या *451 के भाग (क) से (ड.) के उत्तर में उल्लिखित विवरण।

STATEMENT REFERRED TO IN REPLY TO PART (A) TO (E) OF LOK SABHA STARRED QUESTION NUMBER *451 FOR 04th APRIL, 2022 REGARDING WAIVING OFF EDUCATIONAL LOANS BY SHRI VIJAYAKUMAR (ALIAS) VIJAY VASANTH ADN SHRI RAVNEET SINGH BITTU

(क) से (ड.): विदेश मंत्रालय के अनुसार, 1 फरवरी 2022 से अब तक लगभग 22,500 भारतीय नागरिक, ज्यादातर छात्र, यूक्रेन से सुरक्षित रूप से भारत लौट आए हैं। सरकार ने यूक्रेन के पश्चिमी पड़ोसी देशों को पार करके आने वाले विस्थापित भारतीयों को आश्रय, भोजन और चिकित्सा सहायता के रूप में हर संभव सहायता प्रदान की, और उन्हें अंततः: ऑपरेशन गंगा के तहत संचालित उड़ानों के माध्यम से बाहर निकाला गया। विदेशों में छात्रों सहित भारतीयों का कल्याण, भारत सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। 

According to the Ministry of External Affairs, around 22,500 Indian nationals, mostly students, have returned from Ukraine to India safely since 1st February 2022. Government provided all possible assistance in terms of shelter, food and medical attention where required, to displaced Indians who crossed over to the western neighbours of Ukraine, and they were eventually evacuated through flights operated under Operation Ganga. Welfare of Indians abroad, including students, is a top priority for the Government of India.

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और भारतीय बैंक संघ से निजी क्षेत्र के 21 बैंकों के संबंध में प्राप्त सूचना के अनुसार, 31 दिसंबर, 2021 तक, 1,319 छात्रों ने यूक्रेन में अध्ययन के लिए शिक्षा ऋण प्राप्त किया था, उनके संबंध में 121.61 करोड़ रुपए की राशि बकाया है।
As per information received from public sector banks and, in respect of 21 private sector banks, from the Indian Banks’ Association, as on 31st December 2021, 1,319 students had availed of education loan for study in Ukraine with outstanding balance of Rs. 121.61 crore.

वर्तमान में स्थिति अस्थिर है और सरकार परिवर्तन की गहन निगरानी कर रही है। चल रहे संघर्ष के प्रभाव का आकलन किया जा सकता है। स्थिति के स्थिर होने पर ही सुधारात्मक कदमों पर विचार किया जाएगा । इसी बीच सरकार ने भारतीय बैंक संघ को वापस आने वाले छात्रों के बकाया शिक्षा ऋणों के संबंध में संघर्ष के प्रभाव का आकलन करने और पणधारकों के साथ इस संबंध में विचार विमर्श आरंभ करने के लिए कहा है।

The current situation is fluid and Government is closely monitoring developments. Implications of the ongoing conflict can be assessed and remedial steps considered only once the situation has stabilised. In the meantime, Government has decided to ask the Indian Banks’ Association to assess the impact of the conflict on outstanding education loans of the returnee students and to initiate stakeholder consultations in this regard.


नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे।
*****

Comments

This week popular schemes

Apply Online for State Health Card in Uttar Pradesh under UP SECTS Scheme

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लाभार्थी सूची 2021 Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana List 2021

Kranthi Veera Sangolli Rayanna Sainik School at Belgaum district of Karnataka on the erstwhile pattern of Sainik Schools

Uttar Pradesh One District One Product Training and Toolkit Scheme : उत्तर प्रदेश एक जनपद एक उत्पाद प्रशिक्षण एवं टूलकिट योजना

ISRO NAVIC GPS App Download : Indian Regional Navigation Satellite System (IRNSS)

7th Pay Commission increase to 13% DR इन सरकारी कर्मचारियों को मिली बड़ी राहत, 13 फीसद DR में बढ़ोतरी

What is Pradhan Mantri Awas Yojana-Urban? Who can avail it?

Post Office National Savings Monthly Income Account

Objectives, Eligibility, Rules of Sukanya Samriddhi Account (SSA) Scheme

Mineral Production Goes up By 4% in March 2022