Ayush Entry level NABH Certificates to Five Ayurveda Hospitals आयुष मंत्रालय ने पांच आयुर्वेद अस्पतालों को आयुष प्रारंभिक स्तर के एनएबीएच प्रमाणपत्र सौंपे

Ayush Entry level NABH Certificates to Five Ayurveda Hospitals आयुष मंत्रालय ने पांच आयुर्वेद अस्पतालों को आयुष प्रारंभिक स्तर के एनएबीएच प्रमाणपत्र सौंपे

AYUSH आयुष

Ministry of Ayush Handed over Ayush Entry level NABH Certificates to Five Ayurveda Hospitals

आयुष मंत्रालय ने पांच आयुर्वेद अस्पतालों को आयुष प्रारंभिक स्तर के एनएबीएच प्रमाणपत्र सौंपे    

प्रविष्टि तिथि: 13 MAY 2022 6:41PM by PIB Delhi

Ministry of Ayush has taken a major step to fulfill Prime Minister Shri Narendra Modi's dream of 'Heal in India, Heal by India' and to make quality Ayush services accessible to the masses.  Ayush secretary Padmashree Vaidya Rajesh Kotecha, presented entry level NABH certificate to five Ayurveda Institutes.

Five Ayurveda Hospitals

आयुष मंत्रालय ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ‘हील इन इंडिया, हील बाई इंडिया’ के सपने को साकार करने और गुणवत्तापूर्ण या बेहतरीन आयुष सेवाएं आम जनता को सुलभ कराने के लिए एक बड़ा कदम उठाया है। आयुष सचिव पद्मश्री वैद्य राजेश कोटेचा ने पांच आयुर्वेद संस्थानों को प्रारंभिक स्तर के एनएबीएच प्रमाणपत्र प्रदान किए। 

These certificate were provided by National Accreditation Board for Hospitals & Healthcare Providers (NABH), which is a constituent board of Quality Council of India, set up to establish and operate accreditation programme for healthcare organizations. Dr. Atul Mohan Kochhar, Chief Executive Officer, NABH along with other dignitaries were present on the occasion.

ये प्रमाणपत्र ‘अस्पतालों और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के लिए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड (एनएबीएच)’ द्वारा प्रदान किए गए, जो भारतीय गुणवत्ता परिषद का एक घटक बोर्ड है और जिसकी स्‍थापना स्वास्थ्य सेवा संगठनों के लिए प्रत्यायन कार्यक्रम शुरू करने एवं संचालित करने के उद्देश्‍य से की गई है। एनएबीएच के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. अतुल मोहन कोचर सहित अन्य गणमान्यजन इस अवसर पर उपस्थित थे। 

On this occasion, Shri Kotecha said that this program is very important for all the Ayurveda Hospitals and institutions in our country. Ayush doctors across the country should take advantage of it. He said that this certificatication is an important step towards ensuring quality. “We need to spread Ayush all over the world in such a way that the disciplines of Ayush acquire respect. I request everyone should take advantage of this facility.” He added.

इस अवसर पर श्री कोटेचा ने कहा कि यह कार्यक्रम हमारे देश के सभी आयुर्वेद अस्पतालों एवं संस्थानों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। देश भर के आयुष डॉक्टरों को इसका लाभ उठाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह प्रमाणपत्र उच्‍च गुणवत्ता सुनिश्चित करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने यह भी कहा, ‘हमें आयुष को पूरी दुनिया में इस तरह से फैलाने की जरूरत है जिससे कि आयुष से जुड़े सभी विषयों की व्‍यापक सराहना हो। मेरा विनम्र अनुरोध है कि सभी लोग इस सुविधा का लाभ उठाएं।’ 

Dr. Narayan G Shahane, Managing Director, Brahma Ayurveda Multi Specialty Hospital, Gujarat, said “The manner in which number of Ayurveda and Ayush hospitals are growing in the country, this certification will serve to establish quality across the board. This will also increase the confidence of the people coming for treatment from all over the world.”

ब्रह्म आयुर्वेद मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, गुजरात के प्रबंध निदेशक डॉ. नारायण जी शहाणे ने कहा, ‘जिस तरह से देश भर में आयुर्वेद और आयुष अस्पतालों की संख्या बढ़ रही है, यह प्रमाणपत्र समस्‍त अस्‍पतालों में उच्‍च गुणवत्ता सुनिश्चि͞त करने में काफी उपयोगी या प्रभावकारी साबित होगा। इसके साथ ही इससे दुनिया भर से उपचार के लिए यहां आने वाले लोगों का भरोसा भी बढ़ेगा।’

The entry level NABH certificates were given to Perumbayil Ayurvedamana Hospital, Thrissur (Kerala), Arogya Healthcare Pvt Ltd, Chennai (Tamil Nadu), Premswaroop Swami Ayurvedic Multispeciality Hospital, Gandhinagar (Gujarat), Brahma Ayurveda Multispeciality Hospital, Nadiad (Gujarat) and Sushrutha Ayurveda Hospital, Puttur (Karnataka).

प्रारंभिक स्तर के एनएबीएच प्रमाणपत्र पेरुम्बयिल आयुर्वेदमना हॉस्पिटल, त्रिशूर (केरल); आरोग्य हेल्थकेयर प्राइवेट लिमिटेड, चेन्नई (तमिलनाडु);  प्रेमस्वरूप स्वामी आयुर्वेदिक मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, गांधीनगर (गुजरात); ब्रह्म आयुर्वेद मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, नाडियाड (गुजरात); और सुश्रुत आयुर्वेद हॉस्पिटल, पुत्तूर (कर्नाटक) को प्रदान किए गए।

नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे।
*****

Comments

This week popular schemes

Apply Online for State Health Card in Uttar Pradesh under UP SECTS Scheme

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लाभार्थी सूची 2021 Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana List 2021

Kranthi Veera Sangolli Rayanna Sainik School at Belgaum district of Karnataka on the erstwhile pattern of Sainik Schools

Uttar Pradesh One District One Product Training and Toolkit Scheme : उत्तर प्रदेश एक जनपद एक उत्पाद प्रशिक्षण एवं टूलकिट योजना

ISRO NAVIC GPS App Download : Indian Regional Navigation Satellite System (IRNSS)

7th Pay Commission increase to 13% DR इन सरकारी कर्मचारियों को मिली बड़ी राहत, 13 फीसद DR में बढ़ोतरी

What is Pradhan Mantri Awas Yojana-Urban? Who can avail it?

Post Office National Savings Monthly Income Account

Objectives, Eligibility, Rules of Sukanya Samriddhi Account (SSA) Scheme

Mineral Production Goes up By 4% in March 2022