Pradhan Mantri Awaas Yojana Yogi government will fulfill the dream of one lakh rural families प्रधानमंत्री आवास योजना एक लाख ग्रामीण परिवारों के घर का सपना पूरा करेगी योगी सरकार

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार जल्द ही एक लाख से अधिक लोगों के आवास का सपना पूरा करने जा रही है।  प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत 1 लाख घरों का निर्माण जल्द ही पूरा हो जाएगा। साथ ही मुख्यमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत स्वीकृत 1 लाख 8 हजार घरों के सापेक्ष निर्माणाधीन 8,200 घरों को जल्द पूरा किया जाएगा। प्रदेश सरकार ने इसे 100 दिन की कार्ययोजना में शामिल किया है।
Yogi government will fulfill the dream

अधिकृत सूत्रों ने बुधवार को बताया कि पिछले पांच वर्षों में प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत कुल 26.16 लाख आवास स्वीकृत हुए हैं। 25.16 लाख आवास बन चुके हैं। शेष एक लाख आवास को जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा। वहीं मुख्यमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत 1.08 आवास स्वीकृत हैं। 

इसके तहत मुसहर, वनटांगिया, कुष्ट रोगी, सहारिया श्रेणी को संतृत्प किया जा चुका है। कलस्टर निर्माण को प्राथमिकता में रखा जा रहा है। उन्होंने बताया कि सरकार का लक्ष्य है कि अगले पांच साल में प्रधानमंत्री आवास योजना के तरह 13 लाख पात्र परिवारों को और मुख्यमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत 1.5 पात्र परिवारों को आवास का आवंटन करा दिया जाए।

सरकार इस योजना के तहत महिला सशक्तीकरण भी कर रही है। प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण और मुख्यमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत 78 फीसदी आवास महिलाओं के नाम पर दिए गए हैं।  इसके लिए उत्तर प्रदेश को पुरस्कृत किया जा चुका है। प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए 2018-19 में प्रदेश को 6 श्रेणियों में पुरस्कार मिला। वहीं 2019-20 में उत्कृष्ट कार्य के लिए देश में सर्वाधिक 9 श्रेणियों में प्रदेश को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। वर्तमान में उत्तर प्रदेश भारत सरकार के परफारमेंस इंडेक्स में देश में प्रथम है।

Source: https://www.livehindustan.com/uttar-pradesh/story-yogi-government-will-fulfill-the-dream-of-houses-of-one-lakh-rural-families-under-pradhan-mantri-awas-yojana-6309928.html

नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे।
*****