Railways successfully operated two long haul freight trains ‘Trishul’ and ‘Garuda’ for the first time over South Central Railway

रेलवे ने दक्षिण मध्य रेलवे के लिए पहली बार दो लंबी दूरी की मालगाड़ियों 'त्रिशूल' और 'गरुड़' का सफलतापूर्वक संचालन किया

Ministry of Railways

Railways successfully operated two long haul freight trains ‘Trishul’ and ‘Garuda’ for the first time over South Central Railway

रेलवे ने दक्षिण मध्य रेलवे के लिए पहली बार दो लंबी दूरी की मालगाड़ियों 'त्रिशूल' और 'गरुड़' का सफलतापूर्वक संचालन किया

Long haul train to provide effective solution of capacity constraints

क्षमता में कमी का प्रभावी समाधान प्रदान करने के लिए लंबी दूरी की रेल

Saving of path across congested routes, quicker transit time, maximizing throughput of critical sections and saving in crews are the major Benefits

भीड़भाड़ वाले मार्गों पर पथ की बचत, शीघ्र आवागमन समय, महत्वपूर्ण सैक्‍शनों पर प्रवाह क्षमता को अधिकतम करना और चालक दल में बचत करना प्रमुख लाभों में शामिल

Posted On: 10 OCT 2021 11:39AM by PIB Delhi

Indian Railways has successfully operated two long haul freight trains “Trishul" and “Garuda" for the first time over South Central Railway(SCR). Long haul trains, which are twice or multiple times longer than the normal composition of freight trains, provide a very effective solution to the problem of capacity constraints in critical sections.

भारतीय रेलवे ने दक्षिण मध्य रेलवे (एससीआर) पर पहली बार दो लंबी दूरी की मालगाड़ियों “त्रिशूल” और “गरुड़” का सफलतापूर्वक संचालन किया है। मालगाड़ियों की सामान्य संरचना से दोगुनी या कई गुना बड़ी, लंबी दूरी की यह रेल महत्वपूर्ण सैक्‍शनों में क्षमता की कमी की समस्या का एक बहुत प्रभावी समाधान प्रदान करती हैं।

freight trains ‘Trishul’ and ‘Garuda

Trishul is SCR’s first long haul comprising of three freight trains, i.e., 177 wagons. This train was started on 07.10.2021 from Kondapalli station of Vijayawada division to Khurda division of East Coast Railway. SCR followed it up with running of yet another similar one named Garuda on 08.10.2021 from Raichur of Guntakal division to Manuguru of Secunderabad division. In both the cases the long haul trains comprised of empty open wagons for loading of coal meant for predominantly thermal power stations.

त्रिशूल दक्षिण मध्य रेलवे की पहली लंबी दूरी की रेल है जिसमें तीन मालगाड़ियां, यानी 177 वैगन शामिल हैं। यह रेल 07.10.2021 को विजयवाड़ा मंडल के कोंडापल्ली स्टेशन से पूर्वी तट रेलवे के खुर्दा मंडल के लिए रवाना हुई थी। एससीआर ने इसके बाद 08.10.2021 को गुंतकल डिवीजन के रायचूर से सिकंदराबाद डिवीजन के मनुगुरु तक इसी तरह की एक और रेल को रवाना किया और इसे गरुड़ नाम दिया गया है। दोनों ही मामलों में लंबी दूरी की रेलों में मुख्य रूप से थर्मल पावर स्टेशनों के लिए कोयले की लदान के लिए खाली खुले वैगन शामिल थे।

SCR is a one of the five major freight loading railways on IR. Bulk of SCR’s freight traffic moves in certain arterial routes such as Visakhapatnam-Vijayawada-Gudur-Renigunta, Ballarshah-Kazipet-Vijayawada, Kazipet-Secunderabad-Wadi, Vijayawada-Guntur-Guntakal sections. As bulk of its freight traffic has to pass through these major routes, it is essential for SCR to maximize throughput available across these critical sections.

एससीआर भारतीय रेल पर पांच प्रमुख माल ढुलाई वाले रेलवे में से एक है।विशाखापत्तनम-विजयवाड़ा-गुडुर-रेनिगुंटा,बल्लारशाह-काजीपेट-विजयवाड़ा, काजीपेट-सिकंदराबाद-वाडी, विजयवाड़ा-गुंटूर-गुंतकल खंडों जैसे कुछ मुख्य मार्गों पर एससीआर थोक माल के यातायात का संचालन करता है। चूंकि इसके अधिकांश माल यातायात को इन प्रमुख मार्गों से होकर गुजरना पड़ता है, इसलिए एससीआर के लिए इन महत्वपूर्ण सैक्‍शनों में उपलब्ध प्रवाह क्षमता को अधिकतम करना आवश्यक है।

Saving of path across congested routes, quicker transit time, maximizing throughput of critical sections, saving in crews are the major operational benefits of running long haul trains, which help IR serve its freight customers better.

लंबी दूरी की इन रेलों के माध्‍यम से परिचालन में भीड़भाड़ वाले मार्गों पर पथ की बचत, शीघ्र आवागमन समय, महत्वपूर्ण सैक्‍शन में प्रवाह क्षमता को अधिकतम करना, चालक दल में बचत करना जैसे लाभ शामिल हैं। इन उपायों के माध्‍यम से भारतीय रेल अपने मालवाहक ग्राहकों को बेहतर सेवा प्रदान करने में मदद करती है।

Source: PIB

नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे।
*****

Comments

This week popular schemes

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लाभार्थी सूची 2021 Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana List 2021

ISRO NAVIC GPS App Download : Indian Regional Navigation Satellite System (IRNSS)

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण सूची। ऐसे देखे लिस्ट में अपना नाम ?

Coal India Limited has released Management Trainee MT Recruitment Online Form 2022

Income Tax Rule 30 D effect from the 1st July, 2022 : Income-Tax (19th Amendment) Rules, 2022

ITI / Non ITI Trade Apprentice Recruitment 2022 for 338 posts in Naval Dockyard

Policy of e-auction for Commercial Earing , Non-Fare Revenue (NFR) contracts launched by Shri Ashwini Vaishnaw

Launch of National Cyber Crime Reporting Portal

2nd Round of E-Counselling for Admission in Newly Approved 10 Sainik Schools to fill up 534 vacancies

Government Employees News : Kerala launches medical insurance for govt employees, pensioners