Pradhan Mantri Housing Scheme third phases प्रधानमंत्री आवास योजना के तीन चरण

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने नगरों एवं कस्बों के लिए आवास योजना का शुभारम्भ 25 जून 2015 को किया गया था। जिंसमे कई योजना शामिल हुई है लेकिन महामारी के आने से यह लक्ष्य पूरा होते नजर नहीं आ रहा है उसके वाबजूद भी बताया जा रहा है कि जिनका भी नाम पीएमएवाई में शामिल होगा उन्हें केंद्र सरकार द्वारा पहली बार स्वयं घर खरीदने पर 2.35 लाख से लेकर 2.50 लाख तक की ब्याज दरों पर सब्सिडी प्रदान की जाने वाली है। लेकिन सवाल यह है कि इस महामारी के आने से योजना का कार्य तेजी से हो पाएगा ?

पीएमएवाई योजना के तीन चरण

PMAY चरण 1– अप्रैल 2015 से मार्च 2017 तक जिंसमे 100 शहरों को शामिलकरने का लक्ष्य प्राप्त किया गया था।

PMAY चरण 2 -अप्रैल 2017 से मार्च 2019 तक – इसमे 200 अतिरिक्त शहर शामिल हुए है ।

PMAY चरण 3– अप्रैल 2019 से मार्च 2022 तक – जो अभी तक (शेष है)

Pradhan Mantri Housing Scheme third phases

निर्माण नहीं हो पाया है।

हालांकि अभी तक प्रधानमंत्री आवास योजना में प्रतिवर्ष   जो भी विकास हुआ है जिंसमे 2015 में 7.26 लाख घर बनवाए  गए है जो 2019 तक 100 लाख हो चुके है। सरकार ने  यह भी सूचना दी  है कि PM awas yojna 2021  में केंद्र सरकार के द्वारा शहरी क्षेत्रों में झुग्गी झोपड़ी, कच्चे मकानों में रहने वालों को और जो EWS, LIG, और MIG Income group के व्यक्तियों को सम्मिलित किया जाएगा , जो कि यह PM Awas Yojna ( Urban) के में शामिल किया गया है

आवास योजना का लक्ष्य

प्रधानमंत्री आवास योजना का सबसे ज्यादा मुख्य उद्देश्य यह है कि देश के उन लोगों को अपना खुद का बनाया हुआ घर देना जिनके पास रहने को घर नहीं है जो लोग झुग्गी झोपड़ी आदि में रह रहे है उनके लिए यह लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जो कि 2022 तक पूरा किया जाएगा । इसमें हर परिवार के लिए पक्का घर बना कर देना। जिंसमे 24घण्टे की बिजली, पानी की अच्छी व्यवस्था और शौचालय शामिल होंगे।

क्या है योजनाओं की विशेषताएं

1.)PM Awas Yojana 2021 शहरी क्षेत्रों के MIG 1  के लिए लाभार्थी की सालाना आय 6 लाख से 12 लाख रुपये के बीच होना अनिवार्य है और जो  MIG 2 के लाभार्थी है वह 12 लाख से 18 लाख सालाना आय कमाने वाले इस योजना का लाभ उठा सकते है।

2) यह योजना गरीब वर्गों के लिए 2 करोड़ पक्के मकान बनाने का लक्ष्य 2022 तक पूरा करने की उद्देश्य है जो कि केंद्र सरकार द्वारा रखा गया है। साथ ही इस योजना का लाभ शहरी क्षेत्र के गरीब लोग ही उठा सकते है।

3) जो भी इछुक  लाभार्थी  इन योजना के अंतर्गत ऑनलाइन सेवा जो दी गई है उसके माध्यम से स्वयं का पक्का मकान बने के लिए लोन प्राप्त कर सकते है।

4) जो आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्ग, निम्न वर्ग और मध्यम वर्ग के लोग है प्रधानमंत्री आवास योजना के अंदर 3 तरह के लोग शामिल है EWS and LIG , MIG 1 और MIG 2 शामिल है।

प्रधानमंत्री आवास योजना रिशवत मुक्त

यह योजना एक प्रकार से रिशवत मुक्त रखा गया है बताया जा रहा है कि जो भी अधिकारी पैसे की अगर मांग करें तो सांसद, मुख्यमंत्री या हेल्पलाइन के जरिये शिकायत कर सकते है या फिर आईवीआरएस से भी सहायता ले सकते है ऐसा करने से जो रिशवत की मांग कर रहा है सरकार के द्वारा उसकी सारी संपत्ति जब्त कर ली जाएगी।

इस योजना में जियो टेंगिंग की सुविधा प्रदान कराई गई है जो कि सरकार द्वारा मुहिम चलाया गया है और यह भी कहा गया है कि जो में शिकायतें सीएम हेल्पलाइन में दर्ज हुई है उनका समाधान 30 नवम्बर तक कराया जाएगा। जी लाभार्थी के पास आधार सीडिंग है वो 3 दिन में पूरी की जाने के निर्देश निकाले गए है जो भी इसमें लापरवाही करेगा उसका पता आसानी से लगा कर उनके खिलाफ सख्त कदम उठाय जाएंगे।

कोविड19 की वजह से हुई देरी

प्रधानमंत्री योजना में जो उद्देश्य बनाये गए है वो कोरोना वायरस की वजह से देरी होने के कारण सावल भी उठाय जा रहे है जिंसमे प्रधानमंत्री आवास योजना का जो लाभ उठा रहे है उन्हें कुछ दिक्कतों का सामना उठाना पड़ सकता है। लेकिन यह उम्मीद दिलाई गई है कि विभाग द्वारा जांच की प्रक्रिया तेजी से होने जा रही है जिंसमे लाभर्थियों को लाभ प्रदान किया जाएगा

Source: https://www.khaberaajki.com

नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे। 
*****