MP E Uparjan Scheme for Farmer मध्य प्रदेश ई उपार्जन 2022-23

आज अगर हम जिन्दा है तो इसका एक मात्र कारण हैं की देश के किसान अपना तन मन धन लगाकर अन्न उत्पन करते है। जरुरी हैं की हम भी उनके लिए कुछ करें, यही कारण है कि भारत सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है। जिसमें साल 2022-23 तक किसानों की आय को दोगुना किए जाने का प्रयास किया जाएगा। इसी के चलते सभी राज्य सरकारें अपने राज्य के किसानों के हितों के लिए बहुत से कदम भी उठा रही है। ऐसा ही एक कदम मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा से उठाया गया है। जिसका नाम MP E Uparjan है। 

एमपी ई उपार्जन 2022-23

मध्य प्रदेश राज्य के जो किसान खरीफ सीजन की अवधि में समर्थन मूल्य पर अपनी फसल सरकार को बेचना चाहते हैं। उनके लिए इस पोर्टल पर पंजीकरण प्रक्रिया का शुभारंभ हो गया है। पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया एमपी सरकार के द्वारा से शुरू कर दी गई है। राज्य के वह सभी इच्छुक किसान जो सरकार के माध्यम से तय समर्थन मूल्य पर अपनी फसल को बेचना चाहते हैं उन्हें इस पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा तथा इसके पश्चात वह इस पोर्टल के द्वारा से अपनी फसल को बेच सकेंगे। सरकार ने पहले पंजीकरण की प्रक्रिया को भी ऑनलाइन कर दिया था और इस बार भी प्रक्रिया ऑनलाइन ही है।
MP E Uparjan Scheme for Farmer
मगर अब इसमें एक नया बदलाव लाया गया है इस बदलाव के अनुसार बीते साल MP E Uparjan Portal पर कृषि उपज मंडी के द्वारा से पंजीकरण किया जाता था परंतु अब किसान घर बैठे ऑनलाइन इंटरनेट के माध्यम से मध्य प्रदेश उपार्जन पोर्टल पर जाकर आसानी से अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

MP E Uparjan 2022-23 Highlights

योजना का नाम

एमपी ई उपार्जन

किसके माध्यम से आरंभ की गई

मध्य प्रदेश सरकार के माध्यम

उद्देश्य

एमएसपी पर फसल बेचने के लिए आवेदन

फायदा पाने वाले

राज्य के किसान

आवेदन प्रक्रिया

ऑनलाइन

साल

2022-23

श्रेणी

मध्य प्रदेश सरकारी योजनाएं

आधिकारिक वेबसाइट

http://mpeuparjan.nic.in/mpeuparjan/Home.aspx


MP E Uparjan Portal पर राज्य के सभी किसान स्वयं कर सकते हैं अपना पंजीयन

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को उनकी बोंई हुई फसल को समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए एमपी ई उपार्जन पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण करवाने के लिए शुरू किया गया है। लेकिन शुरुआती दौर में इस पोर्टल पर पंजीकरण केवल कृषि उपज मंडी के माध्यम से होता था। जिसकी वजह से किसानों को काफी समस्या का सामना करना पड़ता था। परन्तु अब मध्य प्रदेश सरकार ने सभी किसानों को घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से खुद रजिस्ट्रेशन करने की सुविधा उपलब्ध करवा दी है। यानी अब मध्य प्रदेश के सभी किसान कहीं जाए बिना घर बैठे ही MP E Uparjan Portal पर जाकर अपनी फसल बेचने के लिए खुद पंजीकरण कर सकते हैं।

एमपी ई उपार्जन का उद्देश्य (Objective)

MP E Uparjan का प्रमुख उद्देश्य है कि पिछले वर्ष कृषि मंडी की अवधि में जो ऑनलाइन प्रक्रिया की गई थी। उस वजह से मध्य प्रदेश में किसानों को बहुत सारी समस्याओं और मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा था। एवं बहुत से किसान इसे भी उपस्थित थे। जो पंजीकरण नहीं कर पाए थे। जिसके कारण से उन्हें समर्थन मूल्य से कम मूल्य पर अपनी फसल बेचनी पड़ी थी। इस कारण से किसानों को काफी नुकसान का सामना करना पड़ा था किसानों की इस परेशानी को समझते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने इस बार एमपी ई उपार्जन पोर्टल के द्वारा से रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी है इस साल राज्य के किसान ई उपार्जन के लिए सार्वजनिक डोमेन में कई प्रोक्योरमेंट पोर्टल रजिस्ट्रेशन केंद्रों में अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते है जिससे कि उनके समय और पैसे दोनों की बचत होगी।

MP E Uparjan Benefits (लाभ)
  • मध्य प्रदेश के जो नागरिक एमपी ई उपार्जन पोर्टल के द्वारा से घर बैठे अपने कंप्यूटर या मोबाइल की मदद से आसानी से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

  • इस पोर्टल का लाभ राज्य के सभी किसान भाई प्राप्त कर सकते हैं।

  • राज्य के किसान भाई मोबाइल ऐप डाउनलोड करके भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

  • MP E Uparjan Portal के द्वारा से किसानों को पंजीकरण करने में कोई समस्या नहीं होगी।

  • ऑनलाइन पोर्टल के आरंभ होने से नागरिकों के समय और पैसे दोनों की भी बचत होगी।

  • किसानों को इस बार न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने के लिए वह 3 तारीख भी बतानी होगी।

  • जिनमें अनाज लेकर वह खरीदी केंद्र पर आयेगा।
Important Documents (आवश्यक दस्तावेज)
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आवेदक की समग्र आईडी
  • ऋण पुस्तिका
एमपी ई उपार्जन कवरेज प्लांट

मध्य प्रदेश सरकार के माध्यम से MP E Uparjan के तहत सारे मध्य प्रदेश को कवर करने की योजना बनाई गई है। इसके लिए मध्य प्रदेश के हर जिले की अनाज, गेहूं और धान की मॉनिटरिंग की गई है। मॉनिटरिंग करते दौरान यह पाया गया है। की मध्य प्रदेश के गेहूं खरीद प्रणाली में 2830 खरीद केंद्र है, 708 रनर एवं 2830 डाटा एंट्री ऑपरेटर है तथा 12834 किसान अपनी गेहूं की फसल प्रतिदिन बेचते हैं इस मॉनिटरिंग में यह भी पाया गया है कि मध्य प्रदेश में धान खरीद प्रणाली में 795 खरीद केंद्र है, 199 रनर्स एवं 795 डाटा एंट्री ऑपरेटर है और 4250 किसान प्रतिदिन अपनी फसल बेचते हैं।

MP E Uparjan उपलब्ध सेवाएं

स्टेट यूजर

मुख्यमंत्री कार्यालय

मुख्य सचिव कार्यालय

खाद्य मंत्री

मध्य प्रदेश स्टेट सिविल सप्लाई कॉरपोरेशन (वित्त)

मुख्य सचिव कार्यालय

संचालक कृषि

कृषि उत्पादन आयुक्त

आयुक्त भू अभिलेख

प्रमुख सचिव कोऑपरेटिव

नाफेड

प्रमुख सचिव कृषि

अपेक्स बैंक

प्रमुख सचिव खाद्य

मंडी बोर्ड

प्रमुख सचिव वित्त

मध्य प्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ

प्रमुख सचिव राजस्व

मध्य प्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ (वित्त)

सचिव खाद्य

भारतीय खाद्य निगम

आयुक्त खाद

मध्य प्रदेश वेयरहाउसिंग एंड लॉजिस्टिक्स कॉरपोरेशन

कपास

पब्लिक रिलेशन

रजिस्ट्रार कोऑपरेटिव सोसाइटी

मध्य प्रदेश स्टेट सिविल सप्लाई कॉरपोरेश


डिस्ट्रिक्ट यूजर

आयुक्त संभाग

डीहार कोऑपरेटिव

कलेक्टर

प्रबंधक भारतीय खाद्य निगम

एसडीएम

सिंचाई विभाग

एसडीओ फॉरेस्ट

जिला केंद्रीय सहकारी बैंक

रीजनल मैनेजर (एमपी एसएससी)

कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक

जोनल मैनेजर मार्कफेड

डीआईओ

जिला मैनेजर (एमपी एसएससी)

सीईओ जिला पंचायत

डीएमओ (मार्कफेड)

उप संचालक कृषि

प्रबंधक (एमपीडब्ल्यूएलसी)

प्रबंधक नाफेड

डीएसओ


अदर यूजर

पंजीयन केंद्र

एडमिनिस्ट्रेटर

पंजीयन केंद्र किओस्क

डाटा क्लीनिंग

तोल काटा विभाग

कॉल सेंटर

समिति

जिला केंद्रीय सहकारी ब्रांच

तहसीलदार

एसबीआई बैंक खाता सत्यापन


मध्य प्रदेश ई उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण के लिए दिशा-निर्देश

यदि आप MP E Uparjan Portal के अंतर्गत पंजीकरण करना चाहते हैं। तो आपको कुछ दिए गए दिशा-निर्देशों को जरूर पढ़ना होगा। और नीचे की ओर हम आपको किसानों की धान, रबी फसल की खरीद के लिए जारी किए गए निर्देशों को बता रहे हैं।
  • मध्य प्रदेश ई-उपार्जन पोर्टल के अंतर्गत इस वर्ष किसान आधार नंबर और समग्र आईडी के माध्यम से अपना पंजीकरण करा सकते हैं।

  • इस योजना के तहत सभी किसान रजिस्ट्रेशन करते समय दिए गए बैंक अकाउंट संख्या की जांच जरूर करें।

  • उसके पश्चात फॉर्म को सबमिट कर दे।

  • इस रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को पूरा करने के लिए आपका मोबाइल नंबर आधार से लिंक होना चाहिए।

  • MP E Uparjan Portal पर पंजीकरण करने के पश्चात प्राप्त रसीद को अपने पास रख लेना है।

  • यदि आपकी समग्र आईडी का रखरखाव नहीं किया जाता है।

  • तो आप ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को पूरा नहीं कर पाएंगे।
एमपी ई उपार्जन प्रोसेस

MP E Uparjan के अंतर्गत छह चरण आते हैं इन छह चरण में किसान के माध्यम माल खरीदने, बेचने और परिवहन आदि शामिल किए गए हैं यह छह चरण कुछ इस प्रकार है÷
  • सबसे पहले किसान को खरीद केंद्र पर जाना होगा।

  • खरीद केंद्र पर जाकर किसान को अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।

  • रजिस्ट्रेशन के उपरांत किसान को एक रजिस्ट्रेशन कोड प्रदान किया जाएगा।

  • इसके बाद किसान को गेहूं की खरीद की तिथि की जानकारी प्रदान करने के लिए s.m.s भेजा जाएगा।

  • अब किसान को खरीद केंद्र पर s.m.s. के द्वारा से दी गई तिथि पर जाना होगा।

  • इसके पश्चात किसान से गेहूं की खरीद कर ली जाएगी।

  • इस खरीद के प्रमाण के तौर पर एक पावती प्रदान की जाएगी।

  • अब किसान के खाते में गेहूं खरीद की राशि वितरित की जाएगी।
MP E Uparjan 2022-23 पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

राज्य के जो इच्छुक अभिलाषी इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण करना चाहते हैं तो वह नीचे की ओर दिए गए स्टेप्स को स्टेप्स पर फॉलो करें।
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको रबी 2022-23 का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।

  • अब आपको किसान पंजीयन/आवेदन सर्च का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने अगले पेज को दर्शाया जाएगा।

  • इस पेज पर आपको एक फॉर्म दिखाई देगा।

  • इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे कि-

  • किसान का नाम, मोबाइल नंबर, समग्र आईडी आदि सभी जानकारी दर्ज करनी होगी।

  • इसके बाद आपको सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।

  • इस प्रकार से आपका आवेदन सफलतापूर्वक पूरा हो जाएगा।
एमपी ई उपार्जन के अंतर्गत आवेदन की स्थिति जानने की प्रक्रिया
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको खरीफ 2020-21 का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक कर देना है।

  • विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।

  • इस पेज पर आपको फार्मर रजिस्ट्रेशन/एप्लीकेशन सर्च के ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा।

  • अब आपके सामने एक नया पेज को दर्शाया जाएगा।

  • इस पेज में आपको एप्लीकेशन नंबर डालना है।

  • और सर्च के बटन पर क्लिक कर देना है।

  • अब आप के माध्यम से क्लिक करने के पश्चात आवेदन की स्थिति आपके सामने आ जाएगी।
पंजीयन केंद्र लॉगिन करने की प्रक्रिया
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको रबी 2022-23 का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।

  • इस पेज पर आपको अदर यूजर के तहत पंजीयन केंद्र के ऑप्शन पर क्लिक करना है।

  • अब आपको एक फॉर्म दिखाई देगा।

  • इस फॉर्म में आपको जिला, पंजीयन केंद्र, ऑपरेटर, ओटीपी, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।

  • अब आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।

  • इस प्रकार से आप पंजीयन केंद्र लॉगइन कर सकते हैं।
किसान स्लॉट बुकिंग करने की प्रक्रिया
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको मौजूद किसान स्लॉट बुकिंग के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।

  • यहां पर आपको अपने जिले का चयन करना होगा।

  • इसके पश्चात आपको अपना किसान कोड और स्क्रीन पर मौजूद कैप्चा कोड को दर्ज करना होगा।

  • इसके बाद आपको सेंड ओटीपी के विकल्प पर क्लिक करना है।

  • अब आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा।

  • आपको यह ओटीपी यहां दर्ज करना होगा।

  • इसके पश्चात आप आसानी से अपना स्लॉट बुक कर सकते हैं।
किसान स्लॉट बुकिंग की जानकारी और पावती प्राप्त करें
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको मौजूद किसान स्लॉट बुकिंग के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा।

  • यहां पर आपको किसान स्लॉट बुकिंग की जानकारी और पावती प्राप्त करें के विकल्प पर क्लिक करना है।

  • किसान स्लॉट बुकिंग की जानकारी और पावती प्राप्त करें

  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।

  • यहां पर आपको अपना रिफरेंस/किसान संख्या दर्ज करनी होगी।

  • इसके बाद आपको सर्च करें के ऑप्शन पर क्लिक करना है।

  • इस प्रकार से आप किसान स्लॉट बुकिंग की जानकारी और पावती प्राप्त कर सकते हैं।
स्लॉट डिलीट करें
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको मौजूद किसान स्लॉट बुकिंग के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • यहां पर आपको स्लॉट डिलीट करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।

  • यहां पर आपको अपने जिले को चुनना एवं किसान कोड को दर्ज करना है।

  • इसके बाद आपको सेंड ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक करना है।

  • अब आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा।

  • आपको यह ओटीपी इस एप्लीकेशन फॉर्म में दर्ज करना है।

  • इसके बाद आपके सामने आपका स्लॉट खुल जाएगा।

  • डिलीट के विकल्प पर क्लिक करके आप इसे आसानी से डिलीट कर सकते हैं।
किसान अपनी भुगतान की समस्या बताएं
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको किसान अपनी भुगतान की समस्या बताएं के ऑप्शन पर क्लिक करना है।

  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।

  • इस पेज पर आपको टिकट का प्रकार का चयन करना है।

  • इसके पश्चात आपके सामने एक एप्लीकेशन फॉर्म खुल जाएगा।

  • यहां पर आपको अपनी समस्या से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करनी है।

  • अंत में आपको सुरक्षित करने के विकल्प पर क्लिक करना है।
MP E Uparjan मोबाइल ऐप डाउनलोड कैसे करें?
  • प्रथम आपको मोबाइल के गूगल प्ले स्टोर पर जाना होगा।

  • उसके पश्चात आपको वहां पर MP E Uparjan लिखकर सर्च करना होगा।

  • इसके पश्चात आप को उच्चतम मूल्यांकित ऐप डाउनलोड और इंस्टॉल करना होगा।

  • इस प्रकार से आप इस मोबाइल ऐप की सहायता से खरीफ सहित अन्य सभी फसलों के लिए पंजीकरण करके फायदा प्राप्त कर सकते हैं।

  • आप ई उपार्जन पोर्टल पर जाकर भी अपना मोबाइल नंबर और समग्र आईडी नंबर डालकर मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए लिंक प्राप्त कर सकते हैं।
किसान पंजीयन आवेदन में अन्य खसरा कैसे जोड़े?
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको खरीफ 2020-21 का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक कर देना है।

  • विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।

  • इस पेज पर आपको खरीफ उपार्जन वर्ष 2020-21 हेतु किसान पंजीयन आवेदन का लिंक दिखाई देगा।

  • आपको लिंक पर क्लिक करना होगा।

  • लिंक पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।

  • इस पेज पर आपको किसान पंजीयन आवेदन में अन्य खसरा जोड़ने के लिए यहां क्लिक करें का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस लिंक पर क्लिक करना होगा।

  • लिंक पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने अगले पेज पर एक फॉर्म खुलकर आ जाएगा।

  • इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे कि-

  • किसान की व्यक्तिगत जानकारी

  • मोबाइल नंबर

  • किसान का नाम

  • समग्र सदस्य आईडी

  • किसान की बैंक संबंधी जानकारी आदि दर्ज करनी होगी।

  • सभी जानकारी भरने के पश्चात आपको सर्च के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • इस तरह किसान पंजीयन आवेदन में अन्य खसरा जुड़ जाएगा।
पावती पर्ची कैसे प्राप्त करें?
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको खरीफ 2020-21 का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक कर देना है।

  • विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।

  • इस पेज पर आपको खरीफ उपार्जन वर्ष 2020-21 हेतु किसान पंजीयन आवेदन का लिंक दिखाई देगा।

  • आपको लिंक पर क्लिक करना होगा।

  • लिंक पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा

  • इस पेज पर आपको पावती पर्ची प्राप्त करें का लिंक दिखाई देगा।

  • आपको इस लिंक पर क्लिक करना होगा।

  • लिंक पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने अगला पेज खुलकर आ जाएगा।

  • इस पेज पर आपको फॉर्म दिखाई देगा।

  • जिसमें आपको पूछी गई सभी जानकारी दर्ज करनी होगी।

  • सभी जानकारी दर्ज करने के पश्चात किसान सर्च करें के बटन पर क्लिक करना होगा।

  • इसके पश्चात आपके पेज पर आपको पावती पर्ची प्राप्त हो जाएगी।

  • आप इसे प्रिंट भी कर सकते हैं।
तहसीलदार लॉगिन करने की प्रक्रिया
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको रबी 2022-23 का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।

  • अब आपको तहसीलदार के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।

  • जिसमें आपको जिला तथा तहसील का चयन करना होगा।

  • अब आपको पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।

  • इसके बाद आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।

  • इस तरीके से आप तहसीलदार लॉगिन कर सकते हैं।
प्रबंधक नाफेड लॉगिन करने की प्रक्रिया
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको रबी 2022-23 का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • अब आपको डिस्ट्रिक्ट यूजर के अंतर्गत प्रबंधक नाफेड के लिंक पर क्लिक करना होगा।

  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।

  • जिसमें आपको जिला का चयन करना होगा।

  • अब आपको पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।

  • इसके बाद आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।

  • इस प्रकार से आप प्रबंधक नाफेड लॉगिन कर सकते हैं।
उप संचालक कृषि लॉगिन करने की प्रक्रिया
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको रबी 2022-23 का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • अब आपको उप संचालक कृषि के लिंक पर क्लिक करना होगा।

  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।

  • जिसमें आपको जिला का चयन करना होगा।

  • अब आपको पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।

  • इसके बाद आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।

  • इस प्रकार से आप उप संचालक कृषि लॉगिन कर सकते हैं।
सीईओ जिला पंचायत लॉगिन करने की प्रक्रिया
  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको रबी 2022-23 का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • अब आपको डिस्ट्रिक्ट यूजर के अंतर्गत सीईओ जिला पंचायत के लिंक पर क्लिक करना होगा।

  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।

  • जिसमें आपको जिला का चयन करना होगा।

  • अब आपको पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।

  • इसके बाद आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।

  • इस प्रकार से आप सीईओ जिला पंचायत लॉगिन कर सकते हैं।
डीआईओ लोगिन करने की प्रक्रिया
  • सबसे पहले आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।

  • होम पेज पर आपको रबी 2022-23 का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • अब आपको डीआईओ के लिंक पर क्लिक करना होगा।

  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।

  • जिसमें आपको जिला का चयन करना होगा।

  • अब आपको पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।

  • इसके बाद आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।

  • इस प्रकार से आप डीआईओ लॉगिन कर सकते हैं।
Source: http://mpeuparjan.nic.in/mpeuparjan/Home.aspx

नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे।
*****
लेटेस्‍ट अपडेट के लिए  Facebook --- Twitter -- Telegram से  अवश्‍य जुड़ें