Matsya Sampada Yojana 2023 Online Registration प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा मत्स्य संपदा योजना को 10 सितम्बर 2020 को आरम्भ किया गया है। इस योजना के माध्यम से देशभर के मछलियों का उत्पादन करने वाले किसानो को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना में आवेदन करने वाले लाभार्थी को सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता के साथ साथ और भी बहुत सी सुविधाओं  का लाभ प्रदान किया जायगा। जिससे की मछलियां उत्पादन करने वाले व्यापारियों को अपना उत्पाद करने के लिए किसी भी समस्या का सामना ना करना पड़े ।

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana 2023  

मत्स्य संपदा योजना का ऐलान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया है। इस योजना को आरम्भ करने का सरकार का एक ही लक्ष्य है की मछुआ किसानो की आय दो गुना बढ़ पाए। केंद्र सरकार की तरफ से मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत मछलियों का व्यापार करने वाले किसानो को उनके व्यापार से जुडी सभी ज़रूरी उत्पाद मुफ्त उपलब्ध कराए जायगे। मछलियों का व्यापर आगे बढ़ाने के लिए सरकार दुवारा मछुआरों को 10000 रूपये की आर्थिक सहायता भी दी जायगी। क्योकि मछली पालन करने के लिए एक आइस बॉक्स की ज़रूरत होती है और गांव शहर में मछली का व्यापार करने के लिए एक साईकिल की भी आवश्यकता होती है। ये सभी ज़रूरी चीज़े सरकार दुवारा दी गई धनराशि का इस्तेमाल कर किसान आसानी से खरीद सकते है और अपनी आय में वृद्धि कर सकते है।
Matsya Sampada Yojana 2023 Online Registration
Pradhan Mantri Matsya Sampda Yojana  आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत वित्त वर्ष 2020-21 से वित्त वर्ष 2024-25 तक (5 सालों के लिए) सभी राज्यों/संघ शासित प्रदेशों में कार्यान्वित की जाएगी।

सरकार द्वारा इस योजना के कार्यान्वयन ‌पर 20,050 करोड़ रुपए की धनराशि खर्च करने का लक्ष्य निर्धारण किया गया है।

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना 2023 का अवलोकन

योजना का नाम

मत्स्य संपदा योजना

किसके द्वारा शुरू की गई

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा

आरंभ तिथि

10 सितंबर 2020

उद्देश्य

मछली का उत्पादन और मत्स्य निर्यात का उद्योग बढ़ाना

लाभार्थी

मछुआ किसान

आवेदन का प्रकार

ऑनलाइन

अधिकारिक वेबसाइट

http://www.pmmsy.dof.gov.in/


प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना 2023 का लक्ष्य

केंद्र सरकार दुवारा आरम्भ की गई Matsya Sampada Yojana का लक्ष्य है मत्स्य संपदा उत्पादन में अतिरक्त 70 लाख टन की वृद्धि करना तथा मत्स्य निर्यात से होने वाली आय को लगभग सन 2025 तक 1 करोड़ रुपया तक बढ़ाना है| इस योजना के माध्यम से हमारे देश के मछुआरों और  मत्स्य से होने वाले किसानो की आय अधिक बढ़ जायगी  और पैदावार के बाद होने वाले नुक्सान 25  प्रतिशत से कम होकर 10 प्रतिशत हो जायगी ।

मछली व्यापार करने वाले किसानो के जीवन में आएगा सुधार               

हमारे देश की  केंद्र सरकार छोटा या फिर बड़ा व्यापार करने वाले नागरिको बहुत सी आर्थिक सहायता प्रदान करती चली आ रही है। जिससे की देश के नागरिक अपने व्यापार को आगे बढ़ा कर अपनी आय दो गुना कर पाए। सरकार दुवारा मछली का व्यापार करने वाले नागरको को सहायता दिलाने के लिए Matsya Sampada Yojana का संचालन किया गया है। इस योजना के माध्यम से मछली का व्यापार करने वाले नागरिको को सरकार की तरफ से आइस बॉक्स और एक साईकिल मुहया कराई जायगी। जिससे की व्यापारियों को मछली बेचने के लिए आसानी मिल पाए।

मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत मछली का व्यापार करने वाले नागरिको के जीवन स्तर में भी सुधार आ पाएगा। यदी आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो उसके लिए आपको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। रजिस्ट्रेशन आप ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों प्रक्रियाओ में कर सकते है ।

मत्स्य संपदा योजना का उद्देश्य  

सरकार दुवारा आरम्भ की गई मत्स्य संपदा योजना को आरम्भ करने का उद्देश्य मछली पालन करने वाले व्यापारियों की आय में वृद्धि करना। इस योजना के माध्यम से मछली का व्यापार करने वाले नागरिको को व्यापार से जुड़े सभी ज़रूरी सामान सरकार की तरफ से उपलब्ध कराए जायगे। सरकार दुवारा आर्थिक सहायता के रूप में 10000 रूपये की धनराशि व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए दी जायगी।

देश भर में ऐसे बहुत से नागरिक है स्थित है जिनकी आर्थिक स्थति ठीक ना होने के कारण वह अपने किसी भी प्रकार के कार्य को आगे नहीं बढ़ा पाते है| इसी कारण चलते हुए भी व्यापार की आय में वृद्धि नहीं हो पाती है| इस योजना के माध्यम  से मछली पालन करने वाले नागरिक आत्मनिर्भर और सशक्त बन पाएगे और अपनी आर्थिक स्थिति में भी सुधार ला पाएगे।
Matsya Sampada Yojana के लाभ और विशेषताए
  • नरेंद्र मोदी जी के दुवारा मत्स्य संपदा योजना का ऐलान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया है।

  •  योजना के तहत भूमि और पानी के विकास उचाई चौड़ीकरण और लाभकारी उपयोग के माध्यम से मछली निर्माण में सुधार लाना है।

  •  इस योजना के माध्यम से मछली का व्यापार करने वाले नागरिको को व्यापार से जुड़े सभी ज़रूरी सामान सरकार की तरफ से उपलब्ध कराए जायगे।

  • वेंचर्स को बेहतर लागत देने और उनके वेतन को दोगुना करने में भी सहायता दी जायगी।

  •  आर्थिक सहायता के रूप में 10000 रूपये की धनराशि व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए दी जायगी।

  • सरकार दुवारा दी गई सहायता को प्राप्त कर आप अपने व्यापार को भी आगे बढ़ा पाएगे साथ ही साथ अपनी आय भी अधिक कर पाएगे।

  •  योजना के माध्यम से मछली का व्यापार करने वाले नागरिको को सरकार की तरफ से आइस बॉक्स और एक साईकिल मुहया कराई जायगी ।

  • मत्स्य संपदा योजना का लक्ष्य है मत्स्य संपदा उत्पादन में अतिरक्त 70 लाख टन की वृद्धि करना तथा मत्स्य निर्यात से होने वाली आय को लगभग सन 2025 तक 1 करोड़ रुपया तक बढ़ाना है।

  • हमारे देश के मछुआरे की आय में भी वृद्धि हो ताकि वह  अपना जीवन अच्छे से यापन सके
मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत आवेदन की प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है
  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना  होगा।

  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर जायगा।

  • होम पेज पर आपको आवेदन करें के बटन पर क्लिक करना है।

  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एप्लीकेशन फॉर्म खुलकर आ जायगा।

  • इस फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारी जैसे नाम, डेट ऑफ बर्थ, लिंग आदि दर्ज करना होगा।

  • जानकारी दर्ज करने के बाद आपको अपने सभी दस्तावेज अटैच कर देना है।

  • दस्तावेज अटैच करने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना है।

  • इस प्रकार आपकी आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो जायगी  
Source: http://www.pmmsy.dof.gov.in/

नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे।
*****
लेटेस्‍ट अपडेट के लिए  Facebook --- Twitter -- Telegram से  अवश्‍य जुड़ें