How to Apply Mukhyamantri Lakhpati Didi Yojana मुख्यमंत्री लखपति दीदी योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया

देश की महिलाओ को सशक्त बनाने के लिए सरकार की तरफ से बहुत सी योजनाओ का संचालन होता चला आ रहा है। जिससे की देश की महिलाये अपने परिवार की आर्थिक स्थिति में सुधार ला पाए। अब हाल ही में एक ऐसी ही योजना की शुरुआत उत्तराखंड सरकार द्वारा अपने राज्य महिलाओं के लिए की गई है जिसका नाम मुख्यमंत्री लखपति दीदी योजना है।‌ इस योजना के माध्यम से प्रदेश की स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी 1.25 लाख महिलाओं को सन् ‌2025 तक लखपति बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

अगर आप उत्तराखंड की निवासी है और स्वयं सहायता समूह से जुड़ी है। तो आपभी इस योजना का लाभ ले सकते हैं। आज हम आपको लखपति योजना से जुड़ी हर एक महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। 
How to Apply Mukhyamantri Lakhpati Didi Yojana
Mukhymantri Lakhpati Didi Yojana 2022

4 नवंबर सन 2022 को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी के दुवारा Mukhyamantri Lakhpati Didi Yojana को लांच किया गया है। यह योजना वर्ष 2025 तक संचालित की जाएगी। ‌यह योजना ग्रामीण विकास विभाग द्वारा राज्य की स्वयं सहायता समूह से जुड़ी 3 लाख 67 हजार महिलाओं में से 1 लाख 25 महिलाओं को लखपति बनाने के लिए शुरू की गई हैं। इस योजना के माध्यम से महिलाओं की वार्षिक आय 1 लाख रुपए से ऊपर पहुंचाई जाएगी। उत्तराखंड लखपति दीदी योजना के माध्यम से 1 लाख 25 हजार यानी सवा लाख महिलाओं के लिए रोजगार के अवसर मुहैया करवाए जाएंगे। इसके लिए महिलाओं को ऋण, तकनीकी मार्गदर्शन, प्रशिक्षण, उत्पादों के विपणन की सुविधा आदि मुहैया करवाई जाएगी।

धामी सरकार इस योजना को शुरू करने का निर्णय बहुत ही सराहनीय है। क्योंकि इसके माध्यम से राज्य की माताएं व बहने आर्थिक रूप से मजबूत बनेगी। साथ ही उनमें आत्मविश्वास उत्पन्न होगा जिसके परिणाम स्वरूप राज्य प्रगति की ओर अग्रसर होगा।

Key Highlights of Mukhyamantri Lakhpati Didi Yojana

योजना का नाम

Mukhymantri Lakhpati Didi Yojana

घोषणा की गई

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी के द्वारा

कब शुरू हुई

4 नवंबर 2022 को

लाभार्थी

स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं

उद्देश्य

लखपति बनाना

राज्य

उत्तराखंड

आवेदन प्रक्रिया

ऑनलाइन/ऑफलाइन

अधिकारिक वेबसाइट

जल्द ही लांच होगी


मुख्यमंत्री लखपति दीदी योजना का उद्देश्य

प्रदेश सरकार का इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना है ताकि महिलाए आत्मनिर्भर बनकर समाज में अपना जीवन व्यतीत कर पाए और अपने परिवार का पालन पोषण अच्छे से कर पाए। लखपति दीदी योजना के माध्यम से प्रदेश की महिलाए खुद से हर एक कार्य कर अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार ला पाएगी और समाज में कदम से कदम मिलाकर चला पाएगी। इसके अलावा इस वित्तीय वर्ष में 20 हजार नए स्वयं सहायता समूह का गठन लखपति दीदी योजना के तहत किया जाएगा। ताकि महिलाए अधिक से अधिक योजनाओ का लाभ उठा पाए। इस योजना के माध्यम से माहिलाओ की आय में वृद्धि हो पाएगी। इसी के साथ साथ महिलाए समाज के हर एक कार्य को आसानी से पूरा कर पाएगी। 
Lakhpati Didi Yojana से जुडी कुछ ज़रूरी बाते
  • इस योजना के तहत राज्य की उन महिलाओं को चयनित किया जाएगा। जो स्वयं सहायता समूह से जुड़ी होगी जिनकी वार्षिक आय बहुत कम है।

  • सरकार द्वारा ऐसे समूहों को ब्लॉक स्तर पर लगने वाले शिविरों में अगले माह ऋण वितरण किया जाएगा।

  • राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री लखपति दीदी योजना के माध्यम से साथ ही उत्पादों को बाजार की मांग के अनुरूप बनाने के लक्ष्य से महिला समूह को तकनीकी ज्ञान और प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

  • प्रधानमंत्री आवास योजना लाभार्थियों को मुख्यमंत्री लखपति दीदी योजना की लॉन्चिंग के अवसर पर आवास भी प्रदान किए गए हैं।

  • इस योजना के तहत शुरू की गई ऐप के माध्यम से ब्लॉक और जिला स्तर पर ऑर्डिनेटरो को ट्रेनिंग देने का काम शुरू कर दिया गया है।

  • काम का सर्वे होने के बाद एसजीएच के अलग-अलग ग्रुप को अलग-अलग कार्य दिए जाएंगे।

  • जिससे उनकी आय 1 लाख रूपए प्रतिवर्ष की जा सके।

  • राज्य के 95 ब्लॉकों में 39116 स्वयं सहायता समूह में 3 लाख 5000 महिलाओं को संगठित करके वर्तमान में 4 हजार 310 ग्राम संगठन और 259 कलस्टर स्तरीय संगठनों का गठन भी किया गया है।
मुख्यमंत्री लखपति दीदी योजना की मुख्य विशेषताएं
  • Lakhpati Didi Yojana के माध्यम से राज्य की स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत करना है।

  • लखपति बनाने के लिए सरकार द्वारा महिलाओं को सहायता प्रदान करना।

  • महिलाओं के जीवन स्तर में सुधार लाना।

  • महिलाओं को रोजगार से जोड़ना।

  • राज्य की महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाना

  • आय में वृद्धि करना।
Mukhymantri Lakhpati Didi Yojana 2022 के लाभ
  • धामी सरकार द्वारा मुख्यमंत्री लखपति दीदी योजना के तहत सन् 2025 तक राज्य की महिलाओं को लखपति बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

  • उत्तराखंड की स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं को मुख्यमंत्री लखपति दीदी योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

  • महिलाओं को तकनीकी, मार्गदर्शन, प्रशिक्षण, उत्पादों के वितरण की सुविधा सरकार द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी।

  • मुख्यमंत्री लखपति दीदी योजना के माध्यम से ग्रामीण विकास विभाग ने 2025 तक स्वयं सहायता समूह से जुड़ी सवा लाख महिलाओं को लखपति बनाने का लक्ष्य रखा है।

  • वर्ष 2025 तक यानी राज्य गठन के 25वें साल तक राज्य की कुल 3 लाख 67 हजार स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं में से 1 लाख 25 हजार (सवा लाख) महिलाओं को आजीविका मिशन के तहत लखपति बनाया जाएगा।

  • इस योजना के माध्यम महिलाओं की आय और जीवन स्तर में सुधार आएगा।
लखपति दीदी योजना के लिए पात्रता
  • मुख्यमंत्री लखपति दीदी योजना के लिए आवेदक को उत्तराखंड का स्थाई निवासी होना चाहिए।

  • केवल महिलाएं ही मुख्यमंत्री लखपति दीदी योजना के लिए आवेदन कर सकेगी।

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं पात्र होगी।
आवश्यक दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता विवरण
Mukhyamantri Lakhpati Didi Yojana के तहत आवेदन प्रक्रिया

उत्तराखंड की स्वयं सहायता समूह की जो इच्छुक महिलाएं इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं उन्हें अभी थोड़ा इंतजार करना होगा। क्योंकि अभी केवल उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी के द्वारा राज्य में स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाने के लिए Mukhyamantri Lakhpati Didi Yojana को शुरू करने की घोषणा की है। जो भी इच्छुक महिलाएं इस योजना के तहत आवेदन करना चाहती हैं उन्हें अभी थोड़ा इंतजार करना होगा। क्योंकि उत्तराखंड सरकार द्वारा आवेदन करने के लिए अधिकारिक वेबसाइट लॉन्च नहीं की गई है। 

नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे।
*****
लेटेस्‍ट अपडेट के लिए  Facebook --- Twitter -- Telegram से  अवश्‍य जुड़ें