Indian Railways inducts 100th 12000 HP WAG 12 B Locomotive भारतीय रेलवे ने 12000एचपी डबल्यूएजी 12बी का 100वां इंजन अपने बेड़े में शामिल किया

Indian Railways inducts 100th 12000 HP WAG 12 B Locomotive भारतीय रेलवे ने 12000एचपी डबल्यूएजी 12बी का 100वां इंजन अपने बेड़े में शामिल किया

 रेल मंत्रालय Ministry of Railways

भारतीय रेलवे ने 12000एचपी डबल्यूएजी 12बी का 100वां इंजन अपने बेड़े में शामिल किया
Indian Railways inducts 100th 12000 HP WAG 12 B Locomotive

भारत की सबसे बड़ी ग्रीन फील्ड विनिर्माण सुविधा में निर्मित यह इंजन मेड इन इंडिया के तहत भारत का सबसे शक्तिशाली विद्युत इंजन हैBuilt in one of India’s largest integrated greenfield manufacturing facilities, these are the Nation’s most powerful ‘Made-In-India’ Electric Locomotives

यह इंजन ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम के तहत निर्मित किया गया है
The locomotive has been produced under Make in India programme

इस लोकोमोटिव का निर्माण मधेपुरा इलेक्ट्रिक प्राइवेट लिमिटेड (एमईएलपीएल) द्वारा किया गया
The locomotive is manufactured by Madhepura Electric Locomotive Pvt. Ltd. (MELPL)

डबल्यूएजी 12बी ई-लोको अब तक 48 लाख किलोमीटर का सफर कर चुके हैं और देश के 17 राज्यों व 2 केंद्रशासित प्रदेशों में विभिन्न आवश्यक वस्तुओं को पहुंचा चुके हैं
These WAG 12B e-Locos have already clocked over 4.8 million kilometres hauling a wide range of commodities across 17 States & 2 Union Territories

ये इंजन अत्‍याधुनिक आईजीबीटी आधारित, 3-फेज ड्राइव और 12000 हॉर्स पावर वाले इलेक्ट्रिक इंजन हैं
These locomotives are state of the art IGBT based, 3 phase drive and 12000 horse power electric locomotive

ये उच्च हॉर्स पावर वाले इंजन मालवाहक ट्रेनों की औसत गति और लदान क्षमता बढ़ाकर अत्‍यधिक इस्‍तेमाल वाली पटरियों पर भीड़ कम करने में मददगार होंगे
These high horse power locomotives will help to decongest the saturated tracks by improving average speed and loading capacity of freight trains
Indian Railways inducts 100th 12000 HP
भारतीय रेलवे ने अपने बेड़े में 12000 हॉर्स पावर के 100 वें डब्लूएजी 12बी इंजन को शामिल कर लिया है। यह भारतीय रेल के लिए गौरव का क्षण है। लोको को डब्लूएजी 12बी नाम दिया गया है और इसका नंबर 60100 है। इस इंजन का निर्माण मधेपुरा इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव प्राइवेट लिमिटेड (एमईएलपीएल) द्वारा किया गया है।

It is a proud moment for Indian Railways as 100th 12000 HP WAG 12 B has been inducted in Indian Railways fleet. The loco is named WAG 12 B with number 60100. The locomotive is manufactured by Madhepura Electric Locomotive Pvt. Ltd. (MELPL).

यह इंजन अत्याधुनिक और उन्नत तकनीक के आईजीबीटी आधारित इंजन हैं जिन्हें 3 चरणों के अभियान के अंतर्गत निर्मित किया गया है और इन विद्युत चालित इंजनों की क्षमता 12000 हॉर्स पावर की है। अधिक क्षमता वाले इन इंजनों के भारतीय रेल के बेड़े में शामिल होने से रेल मार्गों पर भीड़ कम होगी क्योंकि इनकी औसत गति बेहतर है और यह अधिक लोड वाली मालगाड़ी को भी आसानी से खींच सकते हैं।

These locomotives are state of the art IGBT based, 3 phase drive and 12000 horse power electric locomotive. These high horse power locomotives will help to decongest the saturated tracks by improving average speed and loading capacity of freight trains.

यह इंजन 706 केएन के अधिकतम संकर्षण के लिए सक्षम है, जो 150 में 1 की ढाल में 6000 टी ट्रेन का संचालन शुरू करने और चलाने में सक्षम है। 22.5 टी (टन) के एक्सल लोड के ट्विन बो-बो डिजाइन वाले इंजन (लोकोमोटिव) को 120 किमी प्रति घंटे की गति के साथ 25 टन तक उन्‍नत (अपग्रेड) किया जा सकता है।

This locomotive is capable of maximum tractive effort of 706 kN, which is capable of starting and running a 6000 T train in the gradient of 1 in 150. The locomotive with twin Bo-Bo design having 22.5 T (Tonnes) axle load is upgradable to 25 Tonnes with design speed of 120 kmph.

उन्नत किस्म के रेल इंजनों का निर्माण मेक इन इंडिया पहल के अंतर्गत किया गया है और यह देश के माल ढुलाई अभियान में क्रांतिकारी बदलाव ला रहे हैं। इन इंजनों के चलते माल गलियारों पर तथा अन्य मार्गों पर माल गाड़ियों की भीड़ में कमी लाने में मदद मिलेगी क्योंकि यह इंजन अधिक क्षमता में माल ढुलाई करने में सक्षम हैं और इनकी गति भी ज्यादा है। अब तक इन विद्युत चालित इंजनों को भारतीय रेलवे के सभी डिवीजन में लगाया गया है और यह बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। आने वाले समय में इस तरह के और अधिक विद्युत चालित इंजनों के उत्पादन की आशा है।

These superior electric locomotives built under the ‘Make-in-India’ initiative, are playing a key role in revolutionizing the freight movement in the country. It will help to decongest the saturated tracks by allowing faster, safer and heavier freight trains to move across the country, as well as improve the loading capacity. So far, these e-Locos have traversed across all Railway divisions and are performing well. We look forward to more such delivery milestones.”

यह इलेक्ट्रिक इंजन समर्पित माल गलियारे के लिए कोयला ढोने वाली माल गाड़ियों हेतु बाजी पलटने वाले साबित होंगे। विद्युत चालित इंजनों को जीपीएस सिस्टम द्वारा ट्रैक किया जा सकता है ताकि इसके परिचालन को लेकर उपयुक्त रणनीति तैयार की जा सके। इस ट्रैकिंग व्यवस्था के लिए एंटीना और सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जा रहा है जिन्हें नियंत्रण कक्ष में मौजूद सर्वर से माइक्रोवेव लिंक के द्वारा जोड़ा गया है।

These locomotive are proving to be a game changer for further movement of coal trains for Dedicated Freight Corridor. The locomotives can be tracked through GPS for its strategic use through embedded software and Antennae being lifted through the servers on ground through microwave link.

डबल्यूएजी 12बी ई-लोको अब तक 48 लाख किलोमीटर का सफर तय कर चुके हैं और देश के 17 राज्यों तथा 2 केंद्र शासित प्रदेशों में विभिन्न आवश्यक वस्तुओं को पहुंचा चुके हैं।

These WAG 12B e-Locos have already clocked over 4.8 million kilometres hauling a wide range of commodities across 17 States & 2 Union Territories.

यहां यह उल्लेखनीय है कि भारतीय रेलवे ने मधेपुरा इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव प्राइवेट लिमिटेड (एमईएलपीएल) के साथ खरीद और देखभाल समझौता किया है।

It may be noted that Indian Railways has entered into Procurement cum Maintenance Agreement with Madhepura Electric Locomotive Pvt. Ltd. (MELPL)

पहला 12000 हॉर्स पावर का इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव भारत में बिहार स्थित मधेपुरा इलेक्ट्रिक लोको फैक्ट्री में निर्मित हुआ और 18 मई 2020 को इसे भारतीय रेलवे के पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन स्टेशन पर सेवा में सम्मिलित किया गया।

First 12000 HP Made in India Locomotive, manufactured by Madhepura Electric Loco Factory situated in Bihar, was put into operation by Indian Railways from Pt Deen Dayal Upadhyaya Jn Station on 18.05.2020.

Source: PIB

नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे। 
*****

Comments

This week popular schemes

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण सूची। ऐसे देखे लिस्ट में अपना नाम ?

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लाभार्थी सूची 2021 Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana List 2021

Uttar Pradesh Shramik Card Online Registration 2020 उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड ऑनलाइन पंजीकरण 2020

UPSC Engineering Services Pre Exam Online Form 2021

Hostels in Navodaya Vidyalayas , State/UT-wise details of construction of hostels in Jawahar Navodaya Vidyalayas

Production Linked Incentive (PIL) Scheme for Textiles

Staff Selection Commission Selection Post IX (Phase 9) Various Post Online Form 2021

Union Bank of India Online Account Opening

Allahabad University Non Teaching Group A & Group B Online Form 2021

Exemption of Examination Fees for the Students who have lost their parents due to COVID