1 जून से पटरी पर दौड़ेंगी 200 नॉन AC ट्रेन, जल्द शुरू होगी बुकिंग : 200 Non AC trains to run from June 1, Booking will start soon

200 non AC trains to run from June 1, booking will start soon :1 जून से पटरी पर दौड़ेंगी 200 नॉन AC ट्रेन, जल्द शुरू होगी बुकिंग
200+non+AC+trains
लॉक डाउन 4.0 से पहले भारतीय रेलवे ने 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेन 12 मई से चला रही हैं। अब रेलवे ने 1 जून से प्रतिदिन 200 नॉन एसी ट्रेन चलाने जा रही हैं जिसकी ऑनलाइन बुकिंग जल्द शुरू होगी। दूसरे राज्यों मे फसे मजदूर को पैदल या किसी अन्य माध्यम से जाना नहीं पड़ेगा वह ट्रेन से अपने घर जा सकते हैं। मजदूरों के लिए यह अच्छी खबर है।  आज रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। 

[post_ads]

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट किया कि भारतीय रेल 1 जून से टाइम टेबल के अनुसार प्रतिदिन 200 नॉन एसी ट्रेन चलाएगा जिसकी ऑनलाइन बुकिंग शीघ्र ही शुरू होगी। रेलवे के इस कदम से प्रवासी मजदूर जो अपने घरों से दूर दूसरे राज्य में फंसे हैं उन्हें राहत मिलेगी.

1 जून से चलेंगी 200 नॉन-एसी ट्रेनेंरेल मंत्री ने ट्वीट कर दी इसकी जानकारी

श्रमिक और 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेन चलाने के बाद भारतीय रेल धीरे-धीरे पटरी पर आ रही है. रेलवे ने अब 200 नॉन-एसी ट्रेनें चलाने का फैसला लिया है. ये ट्रेनें 1 जून से टाइम टेबल के अनुसार प्रतिदिन चलेंगी. इसकी ऑनलाइन बुकिंग जल्द शुरू होगी। रेल मंत्री पीयूष गोयल और रेल मंत्रालय ने मंगलवार को ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। 

पीयूष गोयल ने कहा कि भारतीय रेल 1 जून से टाइम टेबल के अनुसार प्रतिदिन 200 नॉन एसी ट्रेन चलाएगा जिसकी ऑनलाइन बुकिंग शीघ्र ही शुरू होगी. इन ट्रेनों की बुकिंग भी आईआरसीटीसी की वेबसाइट के जरिए ही होगी। रेलवे के इस कदम से प्रवासी मजदूर जो अपने घरों से दूर दूसरे राज्य में फंसे हैं उन्हें राहत मिलेगी.

रेल मंत्रालय की ओर से किया गया ट्वीट

वहीं, रेल मंत्रालय ने ट्वीट किया कि राज्य सरकारों से अनुरोध किया गया है कि जो श्रमिक रास्ते में हैं उन्हें राज्य सरकारें मेन लाइन रेलवे स्टेशन के नजदीक पंजीकृत करें और इसकी लिस्ट रेलवे को दें, जिससे कि श्रमिक स्पेशल ट्रेन द्वारा उन्हें उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचाया जा सके. इन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अतिरिक्त भारतीय रेल 1 जून से प्रतिदिन 200 अतिरिक्त टाइम टेबल ट्रेनें चलाने जा रहा है जो कि गैर वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी की ट्रेन होंगी और इन ट्रेनों की बुकिंग ऑनलाइन ही उपलब्ध होगी. ट्रेनों की सूचना शीघ्र ही उपलब्ध कराई जाएगी.

[post_ads_2]

रेल मंत्रालय ने कहा कि भारतीय रेल अपील करती है कि श्रमिक धैर्य रखें एवं अपने स्थान पर ही रहें. भारतीय रेल द्वारा श्रमिकों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने की पूरी व्यवस्था की जा रही है। 
booking+will+start+soon
रेलवे ने कहा कि लगभग 116 और ट्रेन चलाए जाने की प्रक्रिया में हैं। मंत्री ने ट्वीट किया, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में रेलवे द्वारा 20 लाख से अधिक कामगारों को 1,565 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन कर उनके घर भेजा जा चुका है।” सोमवार रात तक प्राप्त आंकड़ों के अनुसार गुजरात से 496 से अधिक ट्रेन चलाई गईं तथा 17 और चलाए जाने की प्रक्रिया में हैं।

महाराष्ट्र से 266 से अधिक ट्रेन चलाई गईं तथा 37 और चलाए जाने की प्रक्रिया में हैं। पंजाब से 188, कर्नाटक से 89, तमिलनाडु से 61, तेलंगाना से 58, राजस्थान से 54, हरियाणा से 41 और उत्तर प्रदेश से 38 ट्रेन चलाई गईं। उत्तर प्रदेश में अधिकतम 641 ट्रेन अपने गंतव्य स्थान पर पहुंच चुकी हैं और 73 ट्रेन रास्ते में हैं।

बिहार में 310 ट्रेन गंतव्य पर पहुंच चुकी हैं और 53 अभी रास्ते में हैं। रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को ट्वीट की एक श्रृंखला में कहा कि उन्होंने ओडिशा, बिहार और उत्तर प्रदेश की सरकारों से बात की है और उन्होंने आश्वासन दिया है कि वे अपने राज्यों में और ट्रेनों को आने की अनुमति देंगे।


12 मई से शुरू हुईं स्पेशल ट्रेनें चलना

बता दें कि लॉकडाउन के कारण रेल सेवा पूरी तरह से ठप थी. रेलवे ने पहले अलग-अलग राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए पहले श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने का फैसला लिया. इस ट्रेन से प्रवासी लोगों को उनके राज्यों तक पहुंचाया जा रहा है. वहीं 12 मई से 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेन भी पटरी पर दौड़ना शुरू हुई. हालांकि, 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें पूरी तरह से एसी हैं. ये ट्रेन नई दिल्ली और देश के अलग-अलग 15 हिस्सों में चलाई जा रही हैं।

Source : https://twitter.com/RailMinIndia

नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे
*****

Comments