Indian Railways 15 अप्रैल से ट्रेनें चलने को तैयार, हरी झंडी का इंतजार, सफर करने वालो को उठाने होंगे कुछ परिसनिया

Indian Railways 15 अप्रैल से ट्रेनें चलने को तैयार, हरी झंडी का इंतजार, सफर करने वालो को उठाने होंगे कुछ परिसनिया
Indian+Railways+15+अप्रैल+से+ट्रेनें+चलने+को+तैयार
रेल मंत्रालय ने 15 अप्रैल से मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाने के लिए सभी डिवीजन से तैयारी रखने को निर्देश दिए हैं। इसलिए लखनऊ, इज्जतनगर और मुरादाबाद रेल मंडल ने भी अपनी समस्त गाड़ियों, रेल इंजन और स्टेशनों को सैनिटाइज कराने का काम शुरू करा दिया है।

रेल यार्ड में भी गाड़ियां और इंजन सैनिटाइज करके खड़े किए जाने लगे हैं। जिससे आदेश मिलते ही 14 अप्रैल की रात 12:00 बजे (यानी 15 अप्रैल 00:00 बजे) या जिस तिथि से आदेश होगा तब से गाड़ियों का संचालन विधिवत शुरू कर दिया जाएगा। मेल एक्सप्रेस बस सवारी गाड़ियां रेल इंजन रेलवे स्टेशन सैनिटाइज किए गए हैं। गोरखपुर मुख्यालय को भी इस संबंध में रिपोर्ट भेजी गई है। आदेश मिलते ही गाड़ियां चला दी जाएंगी।

[post_ads]

मंडलों में कर्मियों की ड्यूटी लगाने का काम चल रहा

विभिन्न मंडलों के अधिकारी ट्रेन संचालन के लिए बोर्ड से हरी झंडी मिलने के इंतजार में हैं। रेलवे के अधिकारी बताते हैं कि समय सारणी और ट्रेनों के आवागमन में अभी कोई बदलाव नहीं है। बताया जा रहा है कि रेलवे बोर्ड की ओर से अभी तक कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं किया गया है। विभिन्न मंडलों की ओर से अधिकारियों ने तैयारी पूरी कर ली है। ट्रेनों में रेल कर्मियों की ड्यूटी लगाने का काम चल रहा है।

कोचिंग डिपो स्तर पर तैयारी पूरी

अधिकारियों का कहना है, जहां कोचिंग डिपो हैं, कोचों की साफ-सफाई और मेंटीनेंस कार्य होते हैं। वहां सभी रैक सैनिटाइज करा दिए गए हैं। एक-एक सीट को सैनिटाइज कराया गया। कोच हैंडल, टॉयलेट सैनिटाइज किए हैं। क्योंकि, ट्रेन फ़ॉर रन के आदेश मिलते ही एक साथ व्यवस्था को नहीं बनाया जा सकता है, इसलिए पहले से ही तैयारी की जा रही है।

स्टेशनों को सैनिटाइज करने का काम चल रहा

इज्जतनगर मंडल में अप-डाउन की करीब 18 गाड़ियां संचालित की जाती हैं। जिनमें एक्सप्रेस और पैसेंजर गाड़ियां हैं। लालकुआं काठगोदाम, कासगंज,इज्जतनगर, बदायूं, फर्रुखाबाद, मथुरा, पीलीभीत, बरेली सिटी आदि स्टेशनों को भी पुन: सैनिटाइज किया जा रहा है।

कोरोना लॉकडाउन के बाद ट्रेन में सफर करने वालो को उठाने होंगे कुछ परिसनिया जानें इंडियन रेलवे के ये 15 अहम बदलाव

अगर आप कोरोना लॉकडाउन के बाद ट्रेनों में सफर करने की सोच रहे हैं तो रेलवे की इन तैयारियों को अपने ध्यान में जरूर रखें। हालांकि, यह अभी तक तय नहीं है कि 15 अप्रैल के बाद देश में लॉकडाउन रहेगा या नहीं, मगर रेल मंत्रालय ने 15 अप्रैल से संभावित ट्रेन परिचालन के मद्दनेजर कोरोना वायरस संबंधी प्रोटोकॉल तैयार कर लिए हैं। इस दौरान यात्रियों के न सिर्फ पसीने छूटेंगे, बल्कि ट्रेन खुलने से करीब 4 घंटे पहले स्टेशन पहुंचना होगा। 

दरअसल, रेलवे ने जो प्रोटोकॉल तैयार किए हैं, उसके तहत रेल यात्री को एयरपोर्ट की तर्ज पर ट्रेन छूटने से 4 घंटे पहले स्टेशन आना होगा। इससे स्टेशन पर यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग की जा सके। स्टेशन पर केवल आरक्षित टिकट वाले यात्री को प्रवेश करने की अनुमति होगी। इस दौरान प्लेटफार्म टिकट की भी बिक्री नहीं होगी।

तो जानें और क्या-क्या बदलवा देखने को मिलेंगे।
  • रेलवे सिर्फ नॉन एसी ट्रेन (स्लीपर श्रेणी) ट्रेन चलाएगा। ट्रेनों में एसी श्रेणी कोच नहीं होंगे। 
  • यात्रा से 12 घंटे पहले यात्री को अपनी सेहत की जानकारी रेलवे को देना अनिवार्य होगा। 
  • कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाने पर रेल यात्री को बीच सफर में ट्रेन से जबरिया उतार दिया जाएगा। 
  • यात्री को 100 फीसदी रिफंड वापस दिया जाएगा। 
  • रेलवे वरिष्ठ नागरिकों सफर नहीं करने का सुझाव भी देगी।
  • ट्रेन तक जाने के लिए यात्रियों को विशेष टनल से गुजरना होगा
[post_ads_2]
  • सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होगा
  • कोच में यात्री कोई यात्री खांसी, जुकाम, बुखार आदि जैसे कोरोना वायरस जैसे लक्षण पाए जाते हैं तो टीटीई व अन्य रनिंग स्टाफ ऐसी यात्री को बीच रास्ते में ट्रेन रुकवा कर नीचे उतार दिया जाएगा। 
  • ट्रेन के सभी चारो दरवाजे बंद रहेंगे। जिससे गैर जरुरी व्यक्ति का प्रवेश नहीं हो सकेगा। 
  • ट्रेन पूरी तरह से नॉन एसी होगी और नॉन स्टाप (एक स्टेशन व दूसरे स्टेशन) चलेगी। जरुरत के मुताबिक एक अथवा दो स्टेशनों पर रोका जा सकता है। 
  • ट्रेन की कोच की साइड बर्थ खाली रहेगी जिससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा सके। 
  • इसके अलावा एक केबिन (छह बर्थ मिलाकर एक केबिन) में सिर्फ दो यात्री सफर करेंगे।
वेटिंग टिकट वाले नहीं चढ़ पाएंगे

रेलवे अधिकारी ने बताया कि ट्रेन परिचालन संबंधी प्रोटोकॉल तैयार हैं। कोरोना पर गठित मंत्रियों के समूह के निर्देश-सुझाव के अनुसार उक्त प्रोटोकाल को यथावत अथवा बदलाव के साथ लागू किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि उत्तर भारत में 307 ट्रेन चलाने की योजना है। इसमें से एडवांस बुकिंग के चलते 133 ट्रेन में सीटे हाउसफुल होने के कारण लंबी वेटिंग चल रही हैं। वेटिंग टिकट को रद किया जाएगा।

मास्क और दस्ताना दिया जाएगा

स्टेशन पर प्रवेश के दौरान रेल यात्रियों को मास्क व दस्ताने दिया जाएगा। इसके एवज में रेलवे यात्रियों से मामूली शुल्क लिया जाएगा। स्टेशन व ट्रेन में यात्रियों के लिए मास्क लगाना अनिवार्य होगा। कमोबेश रनिंग स्टाफ को भी मास्क व दस्ताने पहनने जरुरी होंगे। कोच के भीतर बाहरी वेंडर का प्रवेश पूरी तरह से वर्जित होगा।

Source : https://www.livehindustan.com

नोट :- हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com पर ऐसी जानकारी रोजाना आती रहती है, तो आप ऐसी ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.indiangovtscheme.com से जुड़े रहे
*****

Comments

This week popular schemes

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण सूची। ऐसे देखे लिस्ट में अपना नाम ?

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लाभार्थी सूची 2021 Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana List 2021

Uttar Pradesh Shramik Card Online Registration 2020 उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड ऑनलाइन पंजीकरण 2020

UPSC Engineering Services Pre Exam Online Form 2021

Hostels in Navodaya Vidyalayas , State/UT-wise details of construction of hostels in Jawahar Navodaya Vidyalayas

Production Linked Incentive (PIL) Scheme for Textiles

Staff Selection Commission Selection Post IX (Phase 9) Various Post Online Form 2021

Union Bank of India Online Account Opening

Allahabad University Non Teaching Group A & Group B Online Form 2021

Exemption of Examination Fees for the Students who have lost their parents due to COVID