Dhruv Scheme 2019-20 of Ministry of Human Resource Development मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ध्रुव योजना 2019-20

Dhruv Scheme 2019-20 of Ministry of Human Resource Development मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ध्रुव योजना 2019-20

आज हम आपके लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय की एक नई योजना की जानकारी लेके आएं हैं। मानव संसाधन विकास मंत्रालय मैथ्स और फिजिक्स और गायन व नृत्य जैसे विविध क्षेत्रों में देश के 60 सबसे प्रतिभाशाली बच्चों के लिए स्काउटिंग कर रहा है, जो जल्द ही प्रधानमंत्री के अभिनव शिक्षण कार्यक्रम (ध्रुव योजना 2019-20) की शुरुआत करने वाले पहले बैच का गठन करेंगे। यह एक महत्वाकांक्षी नई योजना है, जिसका उद्देश्य नौवीं से बारहवीं कक्षा के प्रतिभाशाली भारतीय छात्रों के कौशल को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) बैंगलोर मुख्यालय से लॉन्च किया जाएगा।
Dhruv+Scheme+2019-20
इस लेख से सम्बंधित कुछ मुख्य बातें 
  • प्रधानमंत्री अभिनव शिक्षण कार्यक्रम (DHRUV Scheme 2019-20)
  • (डीएचआरयूवी) ध्रुव योजना की मुख्य विशेषताएं
  • ISRO DHRUV योजना के लाभ
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ध्रुव योजना कार्यान्वयन
यह मोदी सरकार की एक महत्वाकांक्षी पहल है। इसकी पायलट परियोजना को इसरो मुख्यालय से लॉन्च किया गया है, जहां से हाल ही में चंद्रयान मिशन सहित देश के प्रेरणादायक अंतरिक्ष कार्यक्रम ने उड़ान भरी है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय और प्रधानमंत्री कार्यालय के शीर्ष अधिकारी, जिनमें प्रधानमंत्री के वैज्ञानिक सलाहकार प्रोफेसर के विजय राघवन भी शामिल हैं, लॉन्च की रूपरेखा पर काम कर रहे हैं। इस योजना का उद्देश्‍य प्रतिभाशाली छात्रों को उनकी क्षमता का एहसास कराना और उन्हे समाज के लिये योगदान देने हेतु प्रेरित करना है। इसमें कुल 60 छात्र होंगे, जिसमें से प्रत्येक क्षेत्र में 30 छात्र होंगे। छात्रों का चयन सरकारी और निजी स्कूलों की 9वीं से 12वीं कक्षा तक के छात्रों में से किया जाएगा।

प्रधानमंत्री अभिनव शिक्षण कार्यक्रम (DHRUV Scheme 2019-20)

PM Innovation Educational Program (DHRUV Scheme 2019-20) – प्रधानमंत्री नवीन शिक्षण कार्यक्रम – डीएचआरयूवी 10 अक्टूबर, 2019 को बेंगलुरु में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) मुख्यालय से शुरू किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक द्वारा के सिवन, अध्यक्ष, इसरो, विंग सीडीआर की उपस्थिति में किया गया। पायलट कार्यक्रम के तहत इन उज्ज्वल युवाओं को उनके संबंधित क्षेत्रों में मास्टर्स द्वारा तैयार किया जाएगा। मंत्रालय ने इसके बाद रूस के सोची स्कूल की तर्ज पर उत्कृष्टता केंद्र – ध्रुव शुरू करने की योजना बनाई है।
योजना का नाम
Dhruv Scheme 2019-20
किसके द्वारा लॉन्च की गयी
श्री रमेश पोखरियाल निशंक (HRD Minister)
योजना शुरू करने की तिथि
10 अक्टूबर , 2019
लाभार्थी
विज्ञान और प्रदर्शन कला के छात्र
योजना के लिए चयन
राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा , प्रतियोगिताएं आदि
आधिकारिक वेबसाइट
(डीएचआरयूवी) ध्रुव योजना की मुख्य विशेषताएं-

ध्रुव योजना की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं।
  • कार्यक्रम का नाम पोल स्टार के नाम पर रखा गया है जिसे “ध्रुव तारा’ कहा जाता है।
  • योजना का मुख्य उद्देश्य छात्रों को उनकी पूरी क्षमता का एहसास करने और समाज में योगदान करने की अनुमति देना है।
  • कार्यक्रम विज्ञान और कला दो क्षेत्रों को कवर करने के लिए है।
  • इसरो से कार्यक्रम का शुभारंभ किया जाना है।
  • पूरे देश में कक्षा 9 से कक्षा 12 तक लगभग 60 छात्रों का चयन किया जाता है।
  • कार्यक्रम का लक्ष्य राष्ट्र को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद करना है।
ISRO DHRUV योजना के लाभ

Benefits of Dhruv Scheme – डीएचआरयूवी योजना के कई लाभ हैं। जो निम्न प्रकार से हैं।
  • इस अभिनव योजना के पहले बैच में ऐसे छात्र शामिल होंगे जो गायन और नृत्य से गणित और भौतिकी तक के क्षेत्रों में प्रतिभाशाली हैं।
  • छात्रों का चयन राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षाओं, प्रतियोगिताओं आदि में उनके प्रदर्शन के आधार पर किया जा रहा है।
  • और इन छात्रों के चुने जाने के बाद, मंत्रालय इन बच्चों को उनके चुने हुए क्षेत्रों में दाखिला दिलाने के लिए सत्र आयोजित करेगा।
  • छात्रों को उनकी पूरी क्षमता तक पहुंचने के लिए देश भर में उत्कृष्टता के केंद्र में विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों द्वारा सलाह और पोषण किया जाएगा।
  • ध्रुव योजना को रचनात्मक लेखन सहित अन्य क्षेत्रों में भी विस्तारित करने की तैयारी है।
  • इस योजना से छात्रों को उनके ज्ञान के साथ-साथ नवीन कल्पना कौशल को धार देने में मदद मिलेगी।
  • यह योजना छात्रों को देश द्वारा वर्तमान में जारी किए गए सामाजिक-आर्थिक, पर्यावरणीय और राजनीतिक समाधानों में योगदान करने में मदद करेगी।
मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ध्रुव योजना कार्यान्वयन

Implementation of DHRUV Scheme – ध्रुव योजना के तहत पहले बैच के लिए 60 छात्रों का चयन किया गया है। उन 60 छात्रों में से, विज्ञान और प्रदर्शन कला में से प्रत्येक 30 विषयों का चयन किया गया है। योजना की शुरुआत इसरो के दौरे से हुई। दिल्ली में चयनित छात्रों को प्रसिद्ध विशेषज्ञों द्वारा सलाह दी जाएगी। दौरे के सफल होने के बाद, कार्यक्रम का समापन 23 अक्टूबर 2019 को होगा।

नोट – 23 अक्टूबर 2019 को समापन के बाद, अब अगला बैच जनवरी 2020 में शुरू करने का निर्णय लिया जा सकता है। अभी सरकार द्वारा “ध्रुव योजना” के विषय में स्पष्ट जानकारी नहीं दी गयी है। अतः अधिक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट www.indiangovtscheme.com  के साथ बने रहें।

SOURCE  PIC 
*****

Comments

This week popular schemes

Uttar Pradesh Shramik Card Online Registration 2020 उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड ऑनलाइन पंजीकरण 2020

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लाभार्थी सूची 2021 Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana List 2021

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण सूची। ऐसे देखे लिस्ट में अपना नाम ?

Ek Bharat Shrestha Bharat Activities in Schools : CBSE

Modi government will again increase the salary of central employees दिवाली से पहले केंद्रीय कर्मचारियों की मोदी सरकार फिर बढ़ेगी सैलरी, यहां जानें किसे कितना होगा फायदा?

Sainik School Admission 2021-22 (Class 6,9), Apply Online

7th Pay Commission Latest News GPF, Insurance, Ex-gratia Compensation Nomination Form Amended

YSR Pension Kanuka List 2021

Indian Navy Recruitment 10+2 Sailor Entry AA & SSR February 2022 Batch

Delhi Prevention and Control of Malaria, Dengue, Chikungunya or any Vector Borne Disease Regulations, 2021