Email Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Now information about train chat and the empty births of train will be found on one click

पत्र सूचना कार्यालय 
भारत सरकार
रेल मंत्रालय 
27-फरवरी-2019 16:46 IST

श्री पीयूष गोयल ने ट्रेन चार्ट और खाली बर्थों की जानकारी के लिए नई सुविधा को लांच किया 

इसके माध्यम से चार्ट तैयार होने के बाद ट्रेन में उपलब्ध खाली बर्थों की जानकारी मिलेगी खाली बर्थ की जानकारी का उपयोग यात्री ऑनलाइन या टीटीई से टिकट बुकिंग के लिए कर सकते है इस सुविधा से आरक्षित ट्रेनों में उपयोग किए जाने वाले 9 वर्गों वाले कोच–स्थिति को प्रदर्शित किया जाएगा
ट्रेन+चार्ट+और+खाली+बर्थों
रेल तथा कोयला मंत्री श्री पीयूष गोयल ने ट्रेन चार्ट और खाली बर्थों की जानकारी के लिए नई सुविधा को लांच किया। इस अवसर पर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन श्री वी.के. यादव, रेलवे बोर्ड के सदस्य (ट्रैफिक) श्री गिरीश पिल्लई, अन्य बोर्ड सदस्य तथा रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

यात्री आरक्षण चार्ट के आधार पर ट्रेन में उपलब्ध खाली बर्थों की जानकारी आईआरसीटीसी वेबसाइट www.irctc.co.in पर उपलब्ध होगी। इससे यात्रियों को चार्ट तैयार होने के बाद खाली बर्थों की जानकारी मिलेगी। यात्री ट्रेन प्रारंभ होने के स्टेशन के साथ-साथ यात्रा के दौरान आने वाले स्टेशनों के खाली बर्थों की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। खाली बर्थ की जानकारी का उपयोग यात्री ऑनलाइन या टीटीई से टिकट बुकिंग के लिए कर सकते है यह सुविधा वेबसाइट और मोबाइल दोनों पर उपलब्ध है।

इस अवसर पर श्री पीयूष गोयल ने कहा कि पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए यह कदम उठाया गया है। इससे यात्रियों का अनुभव बेहतर होगा। खाली बर्थों की जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध होने से टीटीई को ढूंढने की जरूरत नहीं रह जाएगी। इस सुविधा को डायनेमिक प्रणाली से जोड़ा गया है। इसके तहत यात्रा के दौरान जानकारी को अद्यतन बनाया जाएगा।

मंत्री श्री गोयल ने घोषणा करते हुए कहा कि आईआरसीटीसी 30 किचन बेस तैयार करेगा। इनमें लोगों को देखने के लिए कैमरे लगे होंगे। भोजन को पर्यावरण अनुकूल पैकिंग में उपलब्ध कराया जाएगा, ताकि भोजन की गुणवत्ता बनी रही। टीटीई और कैटरिंग स्टॉफ को पीओएस मशीनें दी जाएगी।

इस अवसर पर रेलवे बोर्ड के सदस्य (ट्रैफिक) श्री गिरीश पिल्लई ने कहा कि इस प्रयास का लक्ष्य आरक्षण प्रक्रिया में पारदर्शिता सुनिश्चित करना है और यात्रियों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करना है। यात्री दूसरा चार्ट बनने के बाद भी उपलब्ध खाली बर्थों की जानकारी प्राप्त कर सकत है। 20 दिनों के पश्चात सभी राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में दूसरा चार्ट बनने के बाद भी टिकट बुकिंग की सुविधा दी जाएगी।
*****

Comments