Breaking

Sunday, December 16, 2018

“Internal Security scenario has vastly improved during the last four years”: Union Home Minister “पिछले चार वर्षों के दौरान आंतरिक सुरक्षा परिदृश्य में व्यापक सुधार आया है”: केन्द्रीय गृह मंत्री

Press Information Bureau 
Government of India
Ministry of Home Affairs
16-December-2018 13:54 IST
“Internal Security scenario has vastly improved during the last four years”: Union Home Minister 

Shri Rajnath Singh says an Action Plan involving Veterans needed to revive national pride among the youth
Internal+Security+scenario
Union Home Minister Shri Rajnath Singh has said the Internal Security scenario has vastly improved during the last four years. Addressing a Vijay Diwas function here today, he said the Left Wing Extremism affected districts have shrunk from 90 to just about 12 while there has been an 80% improvement in insurgency in the North-East. Shri Rajnath Singh also said the BSF has been given full freedom to retaliate effectively to ceasefire violations from Pakistan.

The Union Home Minister said the Veteran Ex-Servicemen can play a key role in inculcating a sense of national pride among our youth. Recalling the heroics of Brigadier Mohammad Usman, Maha Vir Chakra awardee, and Major Somnath Sharma, India's first Param Vir Chakra, Shri Rajnath Singh lamented that the youth today has his idols in cricketers and film stars, but ask him to name Param Vir Chakra recipients, he will fail to recount even one. The Union Home Minister said marytrs like Chandrashekhar Azad and Bhagat Singh were all driven by passionate patriotism. Society has to stand up with the Veterans today and an Action Plan needs to be framed to preserve individual honour and nation's integrity among the citizens, he added.

Shri Rajnath Singh said our Armed Forces proved in 1971 they have the capability to rewrite history and redraw maps. Indian Army has since emerged as a professional model before the world, he added.

On the occasion, the Union Home Minister honoured families of martyrs and released the first quarterly newsletter of Veterans India association. Shri Rajnath Singh also declared to contribute his one month's salary to the organisation's corpus fund for martyrs’ welfare

पत्र सूचना कार्यालय 
भारत सरकार
गृह मंत्रालय 
16-दिसंबर-2018 15:46 IST

“पिछले चार वर्षों के दौरान आंतरिक सुरक्षा परिदृश्य में व्यापक सुधार आया है”: केन्द्रीय गृह मंत्री 

श्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि युवाओं में राष्ट्रीय गौरव की भावना पुनर्जीवित करने के लिए पूर्व सैनिकों से संबंधित एक कार्य योजना जरूरी
Internal+Security+scenario
केन्द्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि पिछले चार वर्षों के दौरान आंतरिक सुरक्षा परिदृश्य में व्यापक सुधार आया है। आज यहां एक विजय दिवस समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि वाम उग्रवाद प्रभावित जिलों की संख्या 90 से घटकर अब केवल 12 ही रह गई है जबकि उत्तर पूर्व में व्याप्त अराजकता में 80 प्रतिशत तक सुधार आया है। श्री राजनाथ सिंह ने यह भी कहा कि पाकिस्तान द्वारा किए जाने वाले युद्ध विराम उल्लंघनों का प्रभावी तरीके से प्रत्युत्तर देने के लिए बीएसएफ को पूरी स्वतंत्रता दी गई है।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि भूतपूर्व सैनिक हमारे युवाओं के बीच राष्ट्रीय गौरव की भावना उत्पन्न करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। महावीर चक्र विजेता ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान एवं भारत के प्रथम परमवीर चक्र विजेता मेजर सोमनाथ शर्मा की बहादुरी का स्मरण करते हुए श्री राजनाथ सिंह ने दुख जताया कि आज के युवाओं के आदर्श क्रिकेट खिलाड़ी और फिल्म सितारे हैं, लेकिन परमवीर चक्र विजेताओं का नाम पूछने पर उन्हें एक का भी नाम स्मरण नहीं है। केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि चन्द्र शेखर आजाद और भगत सिंह जैसे शहीद सभी आवेशपूर्ण राष्ट्रवाद से प्रेरित थे। उन्होंने कहा कि आज समाज को पूर्व सैनिकों के साथ खड़ा होना होगा। उन्होंने यह भी कहा कि नागरिकों के बीच व्यक्तिगत सम्मान और राष्ट्र की अखण्डता को संरक्षित करने के लिए एक कार्य योजना बनाए जाने की आवश्यकता है।

श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारे सशस्त्र बलों ने 1971 में सिद्ध कर दिया कि उनमें इतिहास को फिर से लिखने तथा मानचित्रों को फिर से बनाने की क्षमता है। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना विश्व के समक्ष एक पेशेवर मॉडल के रूप में उभर कर आयी है।

इस अवसर पर केन्द्रीय गृह मंत्री ने शहीदों के परिवारों को सम्मानित किया और वेटरेंस इंडिया एसोसिएशन की पहली त्रिमासिक पत्रिका का अनावरण किया। श्री राजनाथ सिंह ने शहीदों के कल्याण के लिए संगठन की समग्र निधि को अपने एक महीने का वेतन योगदान के रूप में देने की भी घोषणा की।

No comments:

Post a Comment

Popular Schemes