Featured Post

Suspension of LoC Trade between J&K and PoJK

Press Information Bureau  Government of India Ministry of Home Affairs 18-April-2019 18:18 IST Suspension of LoC Trade between J&a...

Sunday, December 9, 2018

Ex Aviaindra 2018 Commences on 10 Dec 2018 एक्स एवियइंद्रा 2018 दस दिसंबर 2018 से आरंभ होगा

Press Information Bureau 
Government of India
Ministry of Defence
09-December-2018 14:08 IST

Ex Aviaindra 2018 Commences on 10 Dec 2018 

Ex AVIAINDRA, a service specific exercise between Indian Air Force and Russian Federation Aerospace Force (RFSAF), is planned at Air Force Station Jodhpur from 10-21 Dec 2018. The inaugural IAF-RFSAF Ex AVIAINDRA was conducted in 2014. AVIAINDRA-2018 is the second in the series of bilateral joint exercise between IAF-RFSAF. 
Ex+Aviaindra+2018
The exercise is planned in two phases. The exercise is unique wherein the foreign participant does not bring its air assets. In Russia, the IAF pilots flew alongside their Russian counterparts in RFSAF aircraft at Lipetsk from 17 Sep 18 to 28 Sep 18. In India, the RFSAF pilots will fly alongside their Indian counterparts in the IAF aircraft, which are common to both Air Forces.


पत्र सूचना कार्यालय 
भारत सरकार
रक्षा मंत्रालय 
09-दिसंबर-2018 17:17 IST

एक्स एवियइंद्रा 2018 दस दिसंबर 2018 से आरंभ होगा 

एक्स एवियइंद्रा भारतीय वायु सेना एवं रशियन फेडेरेशन एयरोस्पेस फोर्स (आरएफएसएफ) के बीच एक सेना विशिष्ट अभ्यास है जिसका संचालन 10-21 दिसंबर, 2018 के बीच वायु सेना केंद्र जोधपुर से किया जाएगा। आरंभिक भारतीय वायु सेना- आरएफएसएफ एक्स एवियइंद्रा का संचालन 2014 में किया गया था।
Ex+Aviaindra+2018
एक्स एवियइंद्रा 2018 एक्स एवियइंद्रा भारतीय वायु सेना एवं रशियन फेडेरेशन एयरोस्पेस फोर्स के बीच द्विपक्षीय संयुक्त अभ्यास की श्रृंखला में दूसरा अभ्यास है। इस अभ्यास की योजना दो चरणों में बनाई गई है। यह एक अनूठा अभ्यास है जिसमें विदेशी प्रतिभागी अपनी वायु परिसंपत्तियां नहीं लाता। रूस में भारतीय वायु सेना के पायलटों ने 17 सितंबर 2018 से 28 सितंबर 2018 तक लिपेट्स्क में आरएफएसएफ वायुयान में रूसी वायु सेना के पायलटों के साथ उड़ान भरी थी। भारत में आरएफएसएफ के पायलट वायु सेना के पायलटों के साथ साथ उड़ान भरेंगे। यह अभ्यास दोनों वायु सेना बलों के लिए समान है।
Previous Post
Next Post

0 comments:

Popular Posts