Featured Post

Suspension of LoC Trade between J&K and PoJK

Press Information Bureau  Government of India Ministry of Home Affairs 18-April-2019 18:18 IST Suspension of LoC Trade between J&a...

Tuesday, December 18, 2018

श्रम मंत्री ने मुंबई आग दुर्घटना में मृतकों के निकट संबंधियों को मुआवजा देने की घोषणा की

पत्र सूचना कार्यालय 
भारत सरकार
श्रम एवं रोजगार मंत्रालय 
18-दिसंबर-2018 14:51 IST
श्रम मंत्री ने मुंबई आग दुर्घटना में मृतकों के निकट संबंधियों को मुआवजा देने की घोषणा की 

प्रत्येक मृतक के परिवार को 10 लाख रूपये दिये जायेंगे गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को 2 लाख रूपये, मामूली रूप से घायल व्यक्ति को 1 लाख रूपये दिये जायेंगे
 मुंबई+आग+दुर्घटना
केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री संतोष कुमार गंगवार ने घोषणा की है कि मुंबई में ईएसआईसी अस्पताल में हुई अग्नि दुर्घटना में मारे गये व्यक्तियों के परिवारों को 10-10 लाख रूपये की अनुग्रह राशि दी जायेगी। उन्होने कहा कि इस दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को 2 लाख रूपये और मामूली रूप से घायल व्यक्ति को 1 लाख रूपये दिये जायेंगे।

इस दुर्घटना के कारणों का पता लगाया जा रहा है। प्रारंभिक रिपोर्ट के अनुसार अस्पताल के भू-तल पर मरम्मत कार्य के लिए रखी गई निर्माण सामग्री के आग पकड़ जाने से ये दुर्घटना हुई। इस त्रासदी में 8 लोगों की मौत दम घुटने से हुई। करीब 158 व्यक्ति घायल हो गए थे, जिनमें से 57 को अस्पाताल से छुट्टी दी जा चुकी है। अग्निशमन कर्मियों, डॉक्टरों और अस्पताल के कर्मचारियों की मदद से रोगियों और उनके परिजनों को सुरक्षित निकाला गया तथा निकटवर्ती अस्पतालों में भर्ती कराय गया। उप-चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर रेश्मा वर्मा को भी निकटवर्ती अस्पताल में भर्ती कराया गया। वे रोगियों को बचाने के प्रयास में घुटन के कराण बेहोश हो गयी थीं। विस्तृत रिपोर्ट की प्रतीक्षा हैं।

श्रम मंत्री ने दिल्ली में श्रम मंत्रालय और ईएसआईसी के अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया की वे मृतकों के निकट संबंधियों और घायल व्यक्तियों को हर संभव सहायता प्रदान करें। इस प्रयोजन के लिए ईएसआईसी दिल्ली से डॉक्टरों का एक दल मुंबई भेजा गया है।

श्री गंगवार, श्रम और रोजगार मंत्रालय के सचिव और ईएसआईसी महानिदेशक के साथ आज शाम अस्पताल का दौरा कर रहे हैं। वे राहत कार्य की देखरेख करेंगे और घायल व्यक्तियों तथा मृतकों के निकट संबंधियो से मिलेंगे।
Previous Post
Next Post

0 comments:

Popular Posts