Bilateral Annual Haj 2019 Agreement Signed at Jeddah between India and Saudi Arabiaभारत और सऊदी अरब के बीच जेद्दाह में वार्षिक हज समझौते पर हस्ताक्षर

Press Information Bureau 
Government of India
Ministry of Minority Affairs
13-December-2018 18:27 IST
Bilateral Annual Haj 2019 Agreement between India and Saudi Arabia Signed at Jeddah 

Union Minister for Minority Affairs, Government of India Shri Mukhtar Abbas Naqvi, and Haj and Umrah Minister of Kingdom of Saudi Arabia, Dr Mohammad Saleh bin Taher Benten signed bilateral annual Haj 2019 agreement between India and Saudi Arabia at Jeddah today.
annual+haj+2019
Shri Naqvi said that the Saudi Arabia Government has always played active and effective role to ensure safety and better facilities to Indian Haj pilgrims. It is a part of strengthened bilateral relations of the two countries. He said that India-Saudi Arabia relations have achieved newer heights under the leadership and guidance of Saudi Arabia King Salman Bin Abdul Aziz and Prime Minister of India Shri Narendra Modi. Both the countries share strong cultural, historical, economic and political relations.

Shri Naqvi thanked The Custodian of the two Holy Mosques, King Salman Bin Abdul Aziz for his guidance and active support to make Haj 2018 , successful. He said that the Government of India, in coordination and cooperation with Saudi Arabia Government, Indian Consulate and various concerned agencies in Saudi Arabia, is working to ensure safety and better facilities, medical facilities for the pilgrims during Haj 2019.

Shri Naqvi said that a large number of Muslim women are likely to go to Haj 2019 without “Mehram” (male companion). More than 2100 women have applied to go to Haj 2019 without “Mehram”.For the first time, the Centre’s Modi Government had lifted ban on women going to Haj without Mehram last year, which resulted into about 1300 Indian Muslim women went on Haj 2018 without any male companion. They had been exempted from the lottery system. For the first time, more than 100 women Haj Coordinators and Haj Assistants had been deployed to assist Indian women Haj pilgrims in 2018.

The Minister said that Haj Committee of India has received more than 2 lakh 47 thousand applications yet for Haj 2019. This includes about 47 per cent women. For the first time after the Independence, a record number of Muslims from India performed Haj 2018 and that too without any subsidy. Record 1,75,025 Muslims from India performed Haj 2018 which include about 48 per cent women. The Indian Government has requested the Saudi Arabia Government to increase India’s annual Haj quota for Haj 2019 also.

Shri Naqvi said that making the Haj process completely online/ digital has helped to make the entire Haj process transparent and pro-pilgrims. For Haj 2019, about 1 lakh 36 thousand online applications have been received.

Shri Naqvi said that Ministry of Minority Affairs, in cooperation with Saudi Arabia Haj Consulate, Haj Committee of India and other concerned agencies, had completed preparations for Haj 2018 about 2 months before schedule to ensure smooth Haj pilgrimage. This time, preparations for Haj 2019 had been started 3 months before schedule to make this Haj more comfortable for the pilgrims.
पत्र सूचना कार्यालय 
भारत सरकार
अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय 
13-दिसंबर-2018 19:37 IST
भारत और सऊदी अरब के बीच जेद्दाह में वार्षिक हज समझौते पर हस्ताक्षर 

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी और सऊदी अरब के हज और उमरा मंत्री डॉ. मोहम्मद सलेह बिन ताहिर बेंटन ने आज जेद्दाह में भारत और सऊदी अरब के बीच 2019 के हज के लिए वार्षिक हज समझौते पर हस्ताक्षर किए।
annual+haj+2019
श्री नकवी ने कहा कि सऊदी अरब सरकार ने हमेशा भारतीय हज यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और उन्हें बेहतर सुविधाएं प्रदान करने में सक्रिय और प्रभावी भूमिका अदा की है। यह दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने का एक हिस्सा है। उन्होंने कहा कि सऊदी अरब के शाह सलमान बिन अब्दुल अजीज और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में भारत और सऊदी अरब के बीच संबंध नई ऊचाइंयों पर पहुंच चुके हैं। दोनों देशों के बीच मजबूत सांस्कृतिक, ऐतिहासिक, आर्थिक और राजनैतिक संबंध हैं।

श्री नकवी ने हज 2018 को सफल बनाने में दो पवित्र मस्जिदों के संरक्षक शाह सलमान बिन अब्दुल अजीज को उनके मार्गदर्शन और सक्रिय सहयोग के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि भारत सरकार सऊदी अरब सरकार, भारतीय वाणिज्य दूतावास और सऊदी अरब की विभिन्न सम्बद्ध एजेंसियों के साथ समन्वय और सहयोग कायम कर हज 2019 के दौरान हज यात्रियों की सुरक्षा और उन्हें चिकित्सा सहित बेहतर सुविधाएं प्रदान करने की दिशा में कार्य कर रही है।

श्री नकवी ने कहा कि 2019 में मेहरम (पुरुष साथी) के बिना बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाओं के हज जाने की उम्मीद है। 2100 से अधिक महिलाओं ने मेहरम के बिना हज 2019 के लिए आवेदन कर रखा है। पहली बार केन्द्र की मोदी सरकार ने पिछले वर्ष मेहरम के बिना महिलाओं के हज जाने पर लगा प्रतिबंध हटाया है जिसके परिणामस्वरूप 2018 में पुरूष साथी के बिना 1300 भारतीय मुस्लिम महिलाएं हज करने गईं। उन्हें लॉटरी प्रणाली से मुक्त रखा गया। पहली बार 100 से अधिक महिला हज समन्वयकों और हज सहायकों को भारतीय महिला हज यात्रियों की सहायता के लिए तैनात किया गया।

श्री नकवी ने कहा कि भारत की हज समिति को हज 2019 के लिए अब तक 2 लाख 47 हजार से अधिक आवेदन मिल चुके हैं। इनमें 47 प्रतिशत महिलाएं शामिल हैं। आजादी के बाद पहली बार भारत से 1,75,025 रिकॉर्ड संख्या में मुसलमानों ने 2018 में बिना सब्सिडी के हज यात्रा की जिनमें 48 प्रतिशत महिलाएं थी। भारत सरकार ने सऊदी अरब सरकार से अनुरोध किया है कि वह हज 2019 के लिए भारत का वार्षिक हज कोटा बढ़ाए।

श्री नकवी ने कहा कि हज प्रक्रिया को पूरी तरह ऑनलाइन/डिजिटल बनाने से समूची हज प्रक्रिया को पारदर्शी और हज यात्रियों के अनुकूल बनाने में मदद मिली है। हज 2019 के लिए मिलने वाले ऑनलाइन आवेदनों की संख्या 1 लाख 36 हजार है।

उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय ने सऊदी अरब हज वाणिज्य दूतावास, भारत की हज समिति और अन्य सम्बद्ध एजेंसियों के सहयोग से हज 2018 के लिए निर्धारित समय से दो महीना पूर्व संपूर्ण तैयारियां पूरी कर ली थी। इस बार हज 2019 के लिए यह कार्य तीन महीना पहले शुरू किया जा चुका है ताकि हज यात्रा को अधिक आरामदायक बनाया जा सके।

Comments

Popular Posts

Index of Eight Core Industries (Base: 2011-12=100) March, 2019

Index of Eight Core Industries (Base: 2011-12=100) February, 2019

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana