Breaking

Wednesday, November 14, 2018

Startup India स्‍टार्ट-अप इंडिया

Embassy of India in China in partnership with Startup India Association (SIA) and Venture Gurukool organized 2nd Startup India Investment Seminar on 12 November 2018 in Beijing for fostering innovation and entrepreneurship among Indian youth.The 1st Startup Indian Investment event was organised in November 2017.
Startup+India
The event was planned to expose Chinese VCs and investors to the promising Indian startups and also help Indian startups to reach out to the large Chinese investors for receiving investment for their companies. Forty-two Indian entrepreneurs representing 20 Indian startups participated in the event and pitched before Chinese investors to make investments in their ventures. More than 350 Chinese Venture Capital (VC) funds, angel investors participated in a day long pitching session and seminar.

In the 1st Startup India Investment seminar, 12 Indian startups participated of which 4 secured funding from Chinese VCs of USD15 million. In the current round 8 startups out of 20 participants are set to get commitment of around USD 30 million.

Mr Zheng Bin, CEO of ICBC India, shared ICBC’s experience in India, gave an overview of the Indian startup ecosystem and explained the process of investment. He also informed that ICBC India has established a USD200 million fund for investing in promising Indian MSMEs and ventures.

A panel discussion was also organised to discuss effective strategy for Chinese VCs to enter the Indian startup market and share their experiences about the Indian startup ecosystem.

पेईचिङ में दूसरी स्‍टार्ट-अप इंडिया निवेश गोष्‍ठी 

चीन में स्‍थित भारतीय दूतावास, स्‍टार्ट-अप इंडिया संघ (एसआईए) और वेंचर गुरुकुल के सहयोग से पेईचिङ में 12 नवंबर 2018 को दूसरी स्‍टार्ट-अप इंडिया निवेश गोष्‍ठी का आयोजन कर रहा है। इसका उद्देश्‍य भारतीय युवाओं में नवाचार और उद्यमशीलता को प्रोत्‍साहन देना है। पहला स्‍टार्ट-अप इंडिया निवेश कार्यक्रम नवंबर, 2017 में आयोजित किया गया था।
Startup+India
आयोजन के तहत चीन की उद्यम पूंजी और निवेशकों को भारत के स्‍टार्ट-अप से परिचित कराने का लक्ष्‍य निर्धारित किया जाता है, ताकि भारतीय स्‍टार्ट-अप को अपनी कंपनियों के लिए चीन के निवेशकों तक पहुंचने का अवसर मिले। 20 भारतीय स्‍टार्ट-अप से जुड़े 42 भारतीय उद्यमियों ने कार्यक्रम में हिस्‍सा लिया और चीन के निवेशकों से अपनी कंपनियों में निवेश करने के लिए संपर्क किया। गोष्‍ठी और परिचय सत्रों में चीन के 350 से अधिक उद्यम पूंजी निधियों और निजी निवेशकों ने हिस्‍सा लिया।

पहली स्‍टार्ट-अप इंडिया निवेश गोष्‍ठी में 12 भारतीय स्‍टार्ट-अप ने हिस्‍सा लिया था, जिनमें से 4 स्‍टार्ट-अप को चीन की उद्यम पूंजी की तरफ से 15 मिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश प्राप्‍त हुआ था। मौजूदा दौर में 20 भागीदारों में से 8 स्‍टार्ट-अप को लगभग 30 मिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश मिलना तय है।

आईसीबीसी इंडिया के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी श्री चङ पिन ने भारत में आईसीबीसी के अनुभव साझा किए और भारतीय स्‍टार्ट-अप इको-प्रणाली का परिचय देते हुए निवेश की प्रक्रिया समझाई। उन्होंने यह भी बताया कि आईसीबीसी इंडिया ने क्षमतावान भारतीय एमएसएमई और उपक्रमों में निवेश के लिए 200 मिलियन अमेरिकी डॉलर की निधि स्‍थापित की है।

भारतीय स्‍टार्ट-अप बाजार में चीन की उद्यम पूंजी के प्रवेश के लिए कारगर रणनीति पर विचार करने के संबंध में एक पैनल-चर्चा का भी आयोजन किया गया। चर्चा के दौरान भारतीय स्‍टार्ट-अप इको-प्रणाली के बारे में अनुभवों को साझा किया गया।

No comments:

Post a Comment

Popular Schemes