Featured Post

Naval Commanders’ Conference 2019/1 -Curtain Raiser

Press Information Bureau  Government of India Ministry of Defence 21-April-2019 13:58 IST Curtain Raiser - Naval Commanders’ Con...

Wednesday, October 24, 2018

Youth Parliament Competition, 2017-18,युवा संसद प्रतियोगिता 2017-2018

     Prizes for 52nd Youth Parliament Competition, 2017-18 for Delhi Schools distributed by Ministry of Parliamentary Affairs

    The Prize Distribution Function of the 52nd Youth Parliament Competition, 2017-18 for schools under Directorate of Education, Government of NCT of Delhi and New Delhi Municipal Corporation (NDMC), organized by Union Ministry of Parliamentary Affairs, was held here today.
Youth+Parliament

    The Youth Parliament Scheme aims at familiarizing the students with the practice and procedures of Parliament, techniques of discussion and debate; develop leadership qualities, spirit of self-discipline and tolerance of diverse opinions and healthy competition in them— all of which are the hallmark of a democracy.

   Prof.Ramesh Chand, Member, NITI Aayogdistributed prizes to schools and students for their meritorious performance in the competition, which was held during the academic year. On this occasion, the Bharti Public School, SwasthyaVihar Delhi, received the Pandit Motilal Nehru Running Parliamentary Shield for standing first in the competition. Further, the following schools were awarded Merit trophies for their meritorious performance in the competition:

  •       RPVV, NaiBasti, KishanGanj, Delhi
  •       DTEA, SSS, Laxmibai Nagar, New Delhi
  •       Happy School, Padam Chand Marg, Daryaganj, New Delhi
  •       Rukmani Devi Public School, CD Block, Pitampura, Delhi
  •       SB Mills Sr. Sec. School, Shivaji Marg, Karampura, Delhi
  •       Vishal Bharti Public School, PaschimVihar, New Delhi
  •       SV Jaffarpur Kalan, New Delhi
  •       Government Co-Ed SSS, Sector - 2, Dwarka, New Delhi
     From a humble beginning in 1966, when the first Competition was organized by the Ministry of Parliamentary Affairs in 16 schools of the Delhi Administration, the Youth Parliament Scheme now covers 1200 schools in NCT of Delhi, 1200 KendriyaVidyalayas, 600 Jawahar Navodaya Vidyalayas and 300 Universities/Colleges throughout the country.

    Other dignitaries present on the occasion were Dr. Satya Prakash, Joint Secretary Parliamentary Affairs and other senior officers from the Ministry and NDMC, along with Principals, teachers, students and their parents.


52वीं युवा संसद प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्‍कार 

     दिल्‍ली सरकार के शिक्षा निदेशालय और नई दिल्‍ली नगर पालिका परिषद के अंतर्गत आने वाले स्‍कूलों में आयोजित 52वीं युवा संसद प्रतियोगिता 2017-18 के विजेताओं को आज यहां संसदीय मामलों के मंत्रालय द्वारा पुरस्‍कार दिए गए। युवा संसद योजना का उद्देश्‍य छात्रों को संसदीय प्रक्रियाओं और परंपराओं तथा संसद में होने वाली चर्चाओं के तौर-तरीकों से अवगत कराना है। इसके साथ ही इसका मकसद छात्रों में नेतृत्‍व क्षमता तथा स्‍वअनुशासन और विभिन्‍न विचारों और मतों के प्रति सहि‍ष्‍णु रहते हुए स्‍वस्‍थ प्रतिस्‍पर्धा का भाव भी पैदा करना है। ये वे गुण है जो लोकतंत्र का मानक हैं।

युवा+संसद+प्रतियोगिता

     नीति आयोग के सदस्‍य प्रोफेसर रमेश चांद ने प्रतियोगिता में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले स्‍कूलों और छात्रों को आयोग की तरफ से पुरस्‍कार प्रदान किए। प्रतियोगिता में प्रथम स्‍थान प्राप्‍त करने वाले दिल्‍ली के स्‍वस्‍थ विहार स्थित भारती पब्लिक स्‍कूल को पंडित मोती लाल नेहरू रनिंग पार्लियामेंट्री शील्‍ड प्रदान किया गया। इसके अलावा प्रतियोगिता में उत्‍कृष्‍ठ प्रदर्शन करने वाले कुछ और स्‍कूलों को भी पुरस्‍कार दिए गए। इन स्‍कूलों में दिल्‍ली के किशनगंज का आरपीवीवी स्‍कूल, लक्ष्‍मीबाई नगर का डीटीईए स्‍कूल, दरियागंज के पदमचंद मार्ग स्थित हैप्‍पी स्‍कूल, पीतमपुरा का रूक्मणी देवी पब्लिक स्‍कूल, कर्मपुरा के शिवाजी मार्ग स्थित एसबीमिल्‍स सीनियर सैकेंडरी स्‍कूल, पश्चिम विहार का विशाल भारती पब्लिक स्‍कूल, जफ्फरपुर कलां का एसवी स्‍कूल और द्वारका सेक्‍टर 2 में स्थित राजकीय सहशिक्षा उच्‍चतर माध्‍यमिक विद्यालय शामिल है।

     संसदीय मामलों के मंत्रालय ने 1966 में पहली बार युवा संसद प्रतियोगिता का आयोजन दिल्‍ली के 16 स्‍कूलों में किया था। अब यह प्रतियोगिता राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र के 1200 स्‍कूलों के साथ ही देश भर में 300 विश्‍वविद्यालयों/कॉलेजों, 1200 केन्‍द्रीय विद्यालयों और 600 जवाहर नवोदय विद्यालयों में आयोजित की जाती है।

    पुरस्‍कार वितरण समारोह के अवसर पर संसदीय मामलों के मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव डॉ. सत्‍यप्रकाश के अलावा मंत्रालय और एनडीएमसी के कई वरिष्‍ठ अधिकारी तथा प्रतियोगिता में हिस्‍सा लेने वाले स्‍कूलों के प्रधानाचार्य, शिक्षक, छात्र और उनके अभिभावक भी उपस्थित थ


Previous Post
Next Post

0 comments:

Popular Posts